जिंदादिल लोग कैसे होते है? | Zinda Dil Log Kaise Hote Hai?

Zinda Dil Log Kaise Hote Hai? ( Zinda Dil Meaning in Hindi ) – जिंदादिल लोग स्वयं के प्रति सहज होते है। वे अपनी कमियों को देखकर हीनता की भावना नहीं लाते है, बल्कि अपनी खूबियों पर गर्व करते है। कोई उन्हें उनके कमियों को दिखाकर नीच दिखाने का प्रयास करता है तो उसके लिए वे एक तर्क रखते है। दूसरों के व्यंग को सुनकर मन में हीनता की भावना नहीं लाते है।

हर व्यक्ति में कोई ना कोई कमी होती है। कोई गोरा होता है तो कोई काला। कोई मोटा होता है तो कोई पतला। किसी के बाल झड़े होते है तो किसी के बाल पके होते है। सबमें कुछ ना कुछ कमियाँ होती है। परन्तु हर व्यक्ति में बहुत सारी अच्छाइयाँ भी होती है। एक जिंदादिल व्यक्ति को स्वयं की अच्छाईयों को देखता है। उसकी बारें में सोचता है और उत्साहित रहता है।

जिंदादिल होने के क्या लाभ है?

  • जिंदादिल व्यक्ति अपनी कमियों के बजाय अपनी खूबियों को देखता है। उसी के बारे में बात करता है। प्रसन्न और उत्साहित रहता है।
  • जिंदादिल व्यक्ति दूसरों के व्यंग, कटुवचनो और नकारात्मक बातों को दिल पर नहीं लेता है। एक कान से सुनता है तो दूसरे कान से निकाल देता है।
  • जिंदादिल व्यक्ति से बात करने वाला उत्साह और प्रसन्नता महसूस करता है। ऐसे लोग दूसरों को जल्द प्रभावित करते है।
  • जिंदादिल व्यक्ति स्वयं के बारे में सकारात्मक विचार रखता है। इसकी वजह से उसके मन में निराश और हीन भावना ज्यादा देर टिक नहीं पाते है। जिंदादिल लोग जीवन में सफल जरूर होते है।
  • जिंदादिल व्यक्ति अपने हो या पराये सबकी मदत के लिए तैयार और ततपर रहता है। ऐसे लोगो में नेतृत्व करने की अपार क्षमता होती है।
  • जो लोग प्रसन्नता पूर्वक अपने जीवन में परिश्रम करते है. वही लोग अपनी जिंदगी को जिंदादिली के साथ जीते है. जिंदा दिल व्यक्ति में प्रेम कूट-कूट कर भरा होता है.
  • जो लोग सच बोलते है वे बड़े ही जिंदादिल होते है. उनमें हीनता की भावना आती ही नहीं है, क्योंकि जीवन की सच्चाई को स्वीकारने और उसके अनुसार कार्य करने का हुनर आ जाता है.
  • जिंदादिल होने पर इंसान जीवन की बड़ी से बड़ी समस्याओं का हँसकर मजाक उड़ा देता है. तनाव नहीं लेता है. इससे वह हमेशा उत्साहित और ऊर्जावान रहता है.

आज के युवा जिंदगी में सफलता पाने के लिए कुछ ज्यादा ही तनाव ले रहे है जिसके कारण कम उम्र में ही मानसिक और शारीरिक बीमारियों के शिकार हो जा रहे है. इसलिए युवाओं को अपनी जिंदगी जीते हुए, जिंदगी का मजा लेते हुए सफलता की ओर बढ़ना है. आपमें जिंदादिली नजर आनी चाहिए। जीवन में किया कोई कार्य या परिश्रम बेकार नहीं जाता है.

इसे भी पढ़े –

- Advertisement -

Latest Articles