कंजूस पर सुविचार | Miser Quotes Shayari Status in Hindi

Miser Quotes Shayari Status Thoughts Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में कंजूस पर कोट्स शायरी स्टेटस आदि दिए हुए है।

कंजूस व्यक्ति उसे कहते है जिसके पास पर्याप्त धन-दौलत होने के बावजूद भी धन के लिए रोता है, भिखारी को थोड़ा सा देने भी हजार बार सोचता है। जो खुद के ऊपर भी खर्च नहीं करता है। जो पाई-पाई बचाने के लिए हर वक़्त सोचता रहता है। कमाई का पाई-पाई बचाना कंजूस की फितरत होती है। जबकि सामन्य व्यक्ति अपनी कमाई का कुछ हिस्सा बचत करता है।

Miser Quotes in Hindi

कंजूस लोग अपने धन की न तो खाते हैं,
न किसी अन्य कार्य में खर्च करते हैं , और
न किसी को दान देते हैं। उनका धन आखिर
में चोर ही ले जाते है।
चाणक्य


संसार में सबसे दयनीय कौन है ?
सिर्फ वही जो धनवान होकर भी कंजूस है।
विद्यापति


- Advertisement -

कंजूस के पास जितना धन होता है
उतना ही वह उसके लिए तरसता है
जो उस के पास नहीं होता।
पब्लिलियस सायरस


कंजूसी और सुख शांति ने कभी
एक दूसरे को देखा ही नहीं , फिर
वे कैसे एक दूसरे से परिचित हों ?
बेंजामिन फ्रैंकलिन


Miser Shayari in Hindi

जिम्मेदारियाँ जब बढ़ेंगी,
तो सब समझ जाओगे,
पैसों के लिए कोई क्यों रोता है
इंसान इतना कंजूस क्यों होता है।


मोहब्बत करके जो वक़्त ना दें,
वो जज्बातों की क्या कद्र करेगा,
जो हर वक़्त धन-दौलत के पीछे भागे
वो कंजूस भला क्या इश्क़ करेगा।


तुझसे नाराज होकर जिंदगी मैं क्या करूंगा,
हर पल दर्द महसूस करके मैं क्या करूंगा,
दुःख और सुख इक सिक्के के दो पहलू है
खर्च होना ही हैं तो कंजूसी करके मैं क्या करूंगा।


Miser Status in Hindi

जिंदगी में कंजूसी इतनी भी ना करें,
कि भिखारी भी भीख मांगने से डरे।


उसने तो कंजूसी की हद पार कर दी हैं,
गर्लफ्रेंड के लिए ठेले से गिफ्ट खरीदी है।


दोस्तों की कंजूसी इस तरह बढ़ रही है,
जैसे महँगाई किसी गरीब से लड़ रही है।


कंजूस पर सुविचार

गरीबी बहुत कुछ चाहती है,
पर कंजूसी सब कुछ चाहती है।
पब्लिलियस सायरस


कंजूस आदमी एक-एक पाई के लिए
उतना ही उत्तेजित हो जाता है,
जितना कि महत्वाकांक्षी एक राज्य
के विजय के लिए।
एडम स्मिथ


कंगले की तरह जीना और
धनवान होकर मरणा महज
पागलपन है।
टामस मिड्लटन


जिंदगी में पैसे की बचत करना जरूरी है,
लेकिन अपने ख्वाहिशों और इच्छाओं को
मारकर पाई-पाई बचाना सिर्फ कंजूसी है।
दुनियाहैगोल


कंजूस पर शायरी

गन्ने के रस को जूस कहते है,
ऊपरी कमाई को घूस कहते है,
जो नौकरी लगने पर पार्टी ना दे
दोस्तों उसे ही कंजूस कहते है।


कंजूस है वो,
जीता नहीं दिल को खोलकर,
मुद्द्तों बाद इश्क़ भी किया
तो बड़ा नाप-तोलकर।


वो इश्क़ तो करते है पर जुनून नहीं रखते,
वो कत्ल तो करते है पर खून नहीं करते,
इस कदर कंजूस है मेरे चाहने वाले
मिस कॉल तो करते है पर फ़ोन नहीं करते।


कंजूस स्टेटस

मैंने इक कंजूस से इश्क़ क्या कर लिया,
जिंदगी अपने आप कबाड़ होती जा रही है।


ना गुलाब, ना तौफा, ना चिट्ठी और ना पताई,
आजकल के इश्क़ में बड़ी कंजूसी नजर आई.


Miser Thoughts in Hindi

जिस तरह से महंगाई बढ़ रही है,
बचत करने से काम नहीं चलेगा शायद
कंजूसी करने से काम बन जाएँ।


कुछ कंजूस इस प्रकार के भी होते है,
जो जीवन में खर्च एक बार करते है
लेकिन उस खर्च की चर्चा पूरे जीवन
भर करते हैं।


ईश्वर की याद कब आती है ?
कंजूस का धन खो जाने पर,
चोर को पकड़े जाने पर ,
धनी को बीमार हो जाने पर,
गरीब को भूख लगने पर।
भगवान की याद कब आती है ?
किसान को वर्षा ना होने पर,
व्यापारी को नुकसान होने पर,
नेता को चुनाव हार जाने पर,
मुसाफिर को ट्रैन छूट जाने पर,
प्रभु कब याद आते हैं ?
धर्मात्मा को हर समय,
पापी को मृत्यु के समय,
छात्र को परीक्षा के समय,
भगवान अक्सर याद आते है।


बाजार में अपनी मनपसंद चीज को देखकर,
जेब में पैसा होते हुए भी ना खरीदने वाला
कंजूस नहीं बल्कि एक बाप भी हो सकता है।


कंजूस पर व्यंग

एक-एक पाई जोड़कर
खुद की ख्वाहिशों को तोड़कर
कंजूस जीवन के अंत में
पैसा दूसरे के लिए छोड़कर जाता है।
उससे बड़ा दानी कौन हो सकता है ?


कंजूस पत्नी मिल जाएँ
तो पति को खुद के कमाएं हुए
पैसे की भीख मांगनी पड़ती है।


जो खुद गुलाब हो उसे क्या गुलाब दूँ,
ऐसा बोलकर कंजूस बॉयफ्रेंड अक्सर
70 से 100 रूपये तक बचा लेते है।


इसे भी पढ़े –

Latest Articles