जॉन एलिया शायरी | Jaun Elia Shayari in Hindi

Jaun Elia Shayari

Jaun Elia Shayari in Hindi ( Jaun Eliya Shayari ) – इस पोस्ट में जॉन एलिया की कुछ बेहतरीन शायरी दी गयी हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े और शेयर करें.

बेस्ट जॉन एलिया शायरी | Jaun Elia Shayari in Hindi

ख़ूब है इश्क़ का ये पहलू भी
मैं भी बर्बाद हो गया तू भी


अपने सब यार काम कर रहे हैं
और हम हैं कि नाम कर रहे हैं
जॉन एलिया शायरी


कितने ऐश से रहते होंगे कितने इतराते होंगे
जाने कैसे लोग वो होंगे जो उस को भाते होंगे
Jaun Elia Shayari


अपना रिश्ता ज़मीं से ही रक्खो
कुछ नहीं आसमान में रक्खा
Jaun Eliya Shayari


काम की बात मैं ने की ही नहीं
ये मिरा तौर-ए-ज़िंदगी ही नहीं
Jaun Elia Best Shayari


मैं भी बहुत अजीब हूँ इतना अजीब हूँ कि बस
ख़ुद को तबाह कर लिया और मलाल भी नहीं
Jaun Eliya Best Shayari


किस लिए देखती हो आईना
तुम तो ख़ुद से भी ख़ूबसूरत हो
Jaun Eliya Shero Shayari


कोई मुझ तक पहुँच नहीं पाता
इतना आसान है पता मेरा
Jaun Elia Shero Shayari


कौन से शौक़ किस हवस का नहीं
दिल मिरी जान तेरे बस का नहीं
Jaun Elia 2 Line Shayari


कैसे कहें कि तुझ को भी हम से है वास्ता कोई
तू ने तो हम से आज तक कोई गिला नहीं किया


क्या पूछते हो नाम-ओ-निशान-ए-मुसाफ़िराँ
हिन्दोस्ताँ में आए हैं हिन्दोस्तान के थे


क्या तकल्लुफ़ करें ये कहने में
जो भी ख़ुश है हम उस से जलते हैं


और तो क्या था बेचने के लिए
अपनी आँखों के ख़्वाब बेचे हैं


हालत-ए-हाल के सबब, हालत-ए-हाल ही गई
शौक़ में कुछ नहीं गया, शौक़ की ज़िंदगी गई
Jaun Eliya Best Shayari in Hindi


अजब इक शोर सा बरपा है कहीं
कोई खामोश हो गया है कहीं


सीना दहक रहा हो तो क्या चुप रहे कोई
क्यूँ चीख़ चीख़ कर न गला छील ले कोई


तमन्ना कई थे, आज दिल में उनके लिए
लेकिन वो आज न आये मुझे मिलने के लिए


शर्मिंदगी है हम को बहुत हम मिले तुम्हें
तुम सर-ब-सर ख़ुशी थे मगर ग़म मिले तुम्हें


चारसाजों की चारासाजी से
दर्द बदनाम तो नहीं होगा
हाँ, दवा दो, मगर ये बतला दो
मुझ को आराम तो नहीं होगा.


इसे भी पढ़े –