Help Shayari Status Quotes in Hindi| हेल्प शायरी

Help Shayari Status Quotes in Hindi ( मदद पर शायरी ) – दूसरों को मदत करके इंसान को जो सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त होती हैं. वह कहीं और नहीं होती हैं.

जितनी अजीब ये बाहर की दुनिया है, उससे भी ज्यादा अजीब हमारे अंदर की दुनिया है. इंसान अपनी जिन्दगी में हर कार्य सुख के अनुभव को प्राप्त करने के लिए करता हैं. अगर जिन्दगी में परम आनंद की प्राप्ति करनी है तो निस्वार्थ भाव से किसी गरीब की मदत जरूर करना.

यकीन मानिए उन लोगो को ईश्वर भी देता हैं. जो जरूरतमंद की मदत करते है. जो अपने हृदय में उनके लिए प्यार और स्नेह रखते हैं. एक सबको मरना है सब यहीं छूट जाएगा. तो अपने जीवन में कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदत करें.

बेस्ट हेल्प शायरी | Help Shayari in Hindi

वो जो दौलत से
अमीर होने का दावा करते हैं.
मदत के वक्त
मशगूल होने का दिखावा करते है.


- Advertisement -

हौसला और उम्मीद रख
जिंदगी में जीने के रास्ते मिलेंगे,
कर्म पर अपने भरोसा रख
खुदा मदत के वास्ते मिलेंगे।


जब भी किसी की मदत कीजिये,
तो उस पर अहंकार मत कीजिये.


माँग कर लिया… कर्ज है… भीख है… एहसान है,
बिना माँगे दिया… फ़र्ज है… मदद है… दान है…


मदद की सीमायें बाधोंगे,
तो नेकी का बाँध कैसे लांघोगे.


मदत पर शायरी

वही दूसरों की मदत कर सकता हैं,
जो दर्द के एहसास को समझता हैं.


बेहतरीन तोहफ़ा देना हो तो मदद कर देना,
और जिसकी भी करो तुम हद कर देना


कुछ भी हो जाए पर इरादें नेक रखों,
दूसरों की मदद के लिए दिल में प्रेम रखों.


Madad Par Shayari

Help Shayari | Help Status in Hindi | Help Shayari in Hindi | Madad Shayari

ना दौलत से, ना शोहरत से,
ना बंगला-गाड़ी रखने से,
मिलता है सुकून दिल को,
किसी गरीब की मदत करने से.


ऐ दोस्त दिल की बातों को कभी छुपाना नहीं,
किसी गरीब के सब्र को कभी आजमाना नहीं,
वो मदत के बदले हजारों दुआएं देता हैं
जरूरतमंद की मदत करने से कभी कतराना नहीं.


दूसरों की दिल से मदत कीजिये,
शान्ति और खुशियाँ मुफ्त में लीजिये.


Help Status in Hindi

हम अपनी अमीरी को दिखाते नहीं है,
किसी की मदत करके सुनाते नहीं है।


Shayari on Helping Others in Hindi

दिल और दिमाग में हमेशा ये बात रखिये,
दूसरों की मदत करने के लिए जज्बात रखिये.


खुदा भी अपने रहमतों को उन पर बरसाता है,
जो मदद करने के लिए अपने हाथ को आगे बढ़ाता है.


यारी, दोस्ती, रिश्तेदारी सबको आज आजमाते है,
मुझे मदद चाहिए… ये खबर सबको भिजवाते है.


Madad Shayari

हर इंसान और जर्रे-जर्रे में तू ही तू नजर आया,
जब मैं गिरा और कोई अपना हाथ मेरी तरफ़ बढ़ाया.


ठहर जायेगी मचलती सांस सीने में,
मदद करती है बहुत यह बात जीने में.


माँगना धन की मदद,
मौत है निज मान की,
अपने ही हाथों हत्या है
निज स्वाभिमान की.


मदद शायरी

बनावटी दुनिया में इंसानियत का तमाशा देखा है,
सेल्फी के खातिर दूसरों की मदत करते देखा हैं.


मैंने ये अपने दिल में ठानी है,
कि मुझे इंसानियत का मददगार होना है,
माना कि रास्ता थोड़ा कठिन है
पर किसी को तो दुनिया में समझदार होना है.


सौदागर तो मिले कोई मददगार न मिला,
दर्द यादगार तो मिले पर कोई खरीददार न मिला.


Sahayata Shayari

इस पोस्ट में बेहतरीन सहायता शायरी, मदद करना शायरी, मदद वाली शायरी, हेल्प शायरी, समाजसेवी शायरी, निस्वार्थ सेवा शायरी, दूसरों की मदद शायरी, Help Shayari, Madad Par Shayari, Madad Shayari, Sahayata Shayari, Shayari on Helping Others in Hindi, Help Shayari in Hindi, Help Status in Hindi दिए हुए हैं. इन्हें जरूर पढ़े और शेयर करें.

Help Status in Hindi | Help Shayari | Help Quotes in Hindi | Help Shayari in Hindi

मौका मिले किसी को मदद करने का,
तो बनना “सारथी” ना कि “स्वार्थी”.


मुसीबत में मदत इंसान की केवल भगवान करते है,
अहंकार के वशीभूत इस बात को नहीं समझते हैं.


प्यार को प्यार से मिला दिया
और तूने इल्जाम मेरे सिर पर लगा दिया,
आशिकों की मदद करना गुनाह है अगर
हाँ बेशक मैंने ये गुनाह किया.


सहायता शायरी

प्यार की उम्मीद ना कर,
फासलें ही मिलेंगे,
मदद की उम्मीद ना कर
दिलासे ही मिलेंगे
जिन्दा रहने की उम्मीद ना कर
मौत के रास्ते ही मिलेंगे.


उसने मुझसे मदत कुछ इस तरह से माँगा,
जैसे बर्षो पुराना को दिया हुआ कर्ज हो.


दुआओं की बाते करते है सब,
मगर दुआ आखिर करता कौन है?
गरीब-गुरबों की चिंता सियासत को बहुत है,
मगर इनकी जरूरतों में मदत करता कौन है?


Helping Hands Quotes in Hindi

जब मदत करके सुना ही दिया जनाब,
तो वो मदत कैसी रही… वो एहसान बन गया.


ये एहसान जताने वालों का जमाना है साहब,
यहाँ मदद की गुजारिश सिर्फ़ ख़ुदा से करें.


तुम भी अपनी जिन्दगी का एक मकसद बना लो,
अगर किसी की मदत नहीं कर सकते तो दुआ जरूर करना.


मदद करना शायरी

उसने कुछ इस तरह मदद के लिए हाथ बढ़ाया था,
ज़ख्मों को कुरेदा था फिर उन पर मरहम लगाया था.


इमानदारी ना रही कहीं भी
अच्छाई भी बिलख रही
भाईचारा, सहयोग, मदद सब
बंद गठरी में सिसक रही.


इसे भी पढ़े –

Latest Articles