साम्प्रदायिक सौहार्द शायरी | Communal Harmony Shayari Status Quotes Hindi

Communal Harmony Shayari Status Quotes Thoughts Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में साम्प्रदायिक सौहार्द शायरी स्टेटस कोट्स थॉट्स इमेज फोटो आदि दिए हुए है.

साम्प्रदायिक सौहार्द बढ़ाने लिए धार्मिक सहनशीलता का होना बहुत जरूरी है. धार्मिक सहनशीलता की उम्मीद देश के शिक्षित युवा से ही करना जायज है. क्योंकि युवाओं की सोच ही भारत का भविष्य तय करेंगी। दुनिया भर के देश नये-नये आविष्कार कर रहे है और हम आज भी लड़ाई-झगड़ों में फँसे हुए है. समाज में बहुत सी समस्याएं है उनका हल ढूढ़िये।

Communal Harmony Shayari in Hindi

Communal Harmony Shayari in Hindi
Communal Harmony Shayari in Hindi | साम्प्रदायिक सौहार्द पर शायरी

जलते घर को देखने वालो,
फूस का छप्पर आपका है,
आपके पीछे तेज हवा है
आगे मुक्क्दर आपका है.
उस के कत्ल पे मैं भी चुप था
मेरा नंबर अब आया
मेरे कत्ल पे आप भी चुप है
अगला नंबर आपका है.
नवाज़ देवबंदी


गीत लिखे प्रेम के नफरत में बह गए,
धर्म की चोट उन्माद की कहानी कह गए,
क्रोध ने घर और दुकानें तक जला दी
जब जला इंसानियत तो सब देखते रह गए.


- Advertisement -

धर्म के नाम पर जब तक लड़ोगे,
तब तक मानवता कराहती रहेगी,
अंधविश्वास और कट्टरता की बेड़ियों को तोड़ो
तभी इंसानियत दिलों में मुस्कुराती रहेगी।


Communal Harmony Status in Hindi

Communal Harmony Status in Hindi
Communal Harmony Status in Hindi | साम्प्रदायिक सौहार्द स्टेटस इन हिंदी

साम्प्रदायिकता की बेड़ियों को तोड़ना होगा,
अब युवाओं को धार्मिक नफरत छोड़ना होगा।


उन्माद, उल्लास को मार देता है,
साम्प्रदायिकता लोकतंत्र को तबाह कर देती है.


नफरत कभी भी नफरत से नहीं हारी है,
मगर मानवता पर हर बार पड़ी भारी है.


Communal Harmony Quotes in Hindi

Communal Harmony Quotes in Hindi
Communal Harmony Quotes in Hindi | साम्प्रदायिक सौहार्द पर अनमोल विचार

अगर इतिहास पढ़कर नफरत
करना सीखेंगे तो भविष्य को
बर्बाद कर देंगे। इतिहास पढ़कर
साहसी बनना सीखिए ताकि
सामाजिक समस्याओं का हल
निकाल सके.


बेरोजगारी” सांप्रदायिकता की सबसे
बड़ी ताकत है, ‘खाली दिमाग‘ नफरत की
फसल के लिए सबसे उपजाऊ जमीन है.
ये खेती मत करिये, नस्लें खराब हो जाएँगी।


हम सब पढ़े-लिखे लोग है,
हमें सांप्रदायिकता को बढ़ावा नहीं
देना चाहिए। सभी को सच्चाई समझने
और बयाँ करने की जरूरत है.


साम्प्रदायिक सौहार्द शायरी

साम्प्रदायिक सौहार्द शायरी
साम्प्रदायिक सौहार्द शायरी | Sampradayik Sauhard Shayari

नफरत की दीवार को गिराएंगे युवा,
धर्म की सही व्याख्या सुनाएंगे युवा,
तुम्हारे षड्यंत्र अब कामयाब नहीं होंगे क्योंकि
कट्टरता के जहर से खुद को बचाएंगे युवा।


ये कैसा दौर चल रहा है दंगों का,
धर्म के नाम पर हो रहा है बँटवारा रंगों का,
जोर-जोर से चीख रही है मानवता
सियासी खेल चल रहा है लफंगों का.


साम्प्रदायिक सौहार्द स्टेटस

साम्प्रदायिक सौहार्द स्टेटस
साम्प्रदायिक सौहार्द स्टेटस | Sampradayik Sauhard Status

मजहबी बहस हमनें कभी की ही नहीं,
क्योंकि इतनी फालतू अक्ल थी ही नहीं।


जिसने मरना सीख लिया है, जीने का अधिकार उसी को
जिसने सहना सीख लिया है, संकट है त्यौहार उसी को.


साम्प्रदायिक सौहार्द पर सुविचार

साम्प्रदायिकता सदैव संस्कृति की
दुहाई दिया करती है, उसे अपने असली रूप
में निकलने में शायद लज्जा आती है, इसलिए
वह उस गधे की भाँति जो सिंह की खाल ओढ़कर
जंगल में जानवरों पर रोब जमाता फिरता था,
संस्कृति का खोल ओढ़कर आती है.
– प्रेमचंद


बीज नफरत का बोओगे,
तो शायद फूल खूबसूरत हो,
मगर खुश्बू नहीं आएगी,
बीज प्यार का बोओगे
तो शायद फूल खूबसूरत ना हो
मगर खुश्बू भरपूर आएगी।


साम्प्रदायिकता पर शायरी

साम्प्रदायिकता पर शायरी
साम्प्रदायिकता पर शायरी | Sampradayikta Par Shayari

आँख मिलकार सच कहना होगा,
सिर उठाकर सच कहना होगा,
ये राजनीति हमेशा हमे लूटी है,
सारे नेताओं की बातें झूठी है.


धार्मिक सहनशीलता क्यों जरूरी है?

धर्म श्रेष्ठता की सीढ़ी है. वह धार्मिक लोगो को महानता, उदारता और श्रेष्ठता की ऊँची चोटियों पर ले जाता है. यदि धर्म के साथ उदारता मिल जाए तो शंकर जैसे देवता पैदा होते है, जिनकी आराधना सदियों तक होती है. परन्तु यदि धर्म की इसी ऊंचाई पर अहंकार की मिलावट हो जाए तो फिर संसार भर में तांडव नृत्य होता है.

धार्मिक ऊंचाई पर पहुँच कर मनुष्य को लगता है कि मेरा धर्म ही सब कुछ है. बाकी लोग बेकार है. मेरा धर्म ठीक है, बाकी नरक द्वार है. यह विचार आते ही पतन के द्वार खुल जाते है. धर्म एक गहरी खाई की ओर बढ़ने लगता है. हिन्दू धर्म अपने को श्रेष्ठ कहता है तो मुस्लिम धर्म कहता है -‘काफ़िर है वो जो ना माने इस्लाम को’. ईसाई धर्म स्वयं को विश्व का सबसे बड़ा धर्म कहता है तो और धर्म भी ऐसे ही ढींगे हाँकते है.

अहंकार आते ही उनकी उदारता मानवता और महानता पतन के गड्ढे में गिर जाती है. आश्चर्य है कि सभी धर्म अपने अनुयायियों को अहिंसा और मानवता का पाठ पढ़ाते है, किन्तु एक दुसरे के विरूद्ध बिना बात तलवार खींच कर खड़े हो जाते है.

वे अपने अहंकार पर किसी प्रकार की खरोंच सहन नहीं कर सकते। इसी कारण दो धर्मों, सम्प्रदायों होते है. भारत में हिन्दू-मुसलमानों में हमेशा संघर्ष रहा है. उसका कारण यही धार्मिक असहनशीलता है. अब तक हिन्दू-मुसलमानों के संघर्ष में जितने लोग मारे गए है, उतने किसी युद्ध या महामारी में नहीं मरे है. भारत-पाकिस्तान विभाजन में ही दस लाख से अधिक लोग मारे गए थे. रूढ़िवादी विचारों और धार्मिक कट्टरता का त्याग करना होगा। धार्मिक सहनशीलता जरूरी है. देश के विकास और समाज को खुशहाल बनाने के लिए.

आशा करता हूँ यह लेख Communal Harmony Shayari Status Quotes Thoughts Image Photo in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें।

इसे भी पढ़े –

Latest Articles