चिल्का झील की पूरी जानकारी | Chilika Lake

Chilika Lake

Chilika Lake Tourism and Best Time to Visit in Hindi ( Chilka Lake ) – चिल्का झील उड़ीसा में स्थित इंडिया की सबसे बड़ी और दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी समुद्री झील हैं. इसे ‘चिलिका झील ( Chilika Jheel )‘ के नाम से भी जानते हैं. यह झील लगभग 1 हजार वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ हैं. इस में मछलियों की लगभग 225 प्रजातियाँ पायी जाती हैं. जाड़े के मौसम ( Winter Season ) में प्रवासी पक्षियों का आगमन होता हैं.

चिल्का झील के बारें में रोचक तथ्य | Interesting Facts about Chilika Lake or Chilka Lake

  • चिल्का झील 70 किमी. लम्बी तथा 30 किमी. चौड़ी और 3 मीटर गहरी है, इसकी अधिकत्तम गहराई लगभग 4 मीटर है. यह समुद्र का ही भाग है जो महानदी द्वारा लायी गई मिट्टी के जमा हो जाने से समुद्र से अलग होकर एक छिछली झील के रूप में हो गया हैं.
  • दिसम्बर से जून तक इस झील का जल खारा रहता है परन्तु बरसात के मौसम में इस झील का पानी मीठा हो जाता हैं.
  • लगभग सैकड़ो गावों में रह रहे, लाखों मछुआरों को आजीविका का साधन यह झील उपलब्ध कराती हैं.
  • चिल्का झील भारत की पहली ऐसी भारतीय झील है, जिसे सन् 1981 ई. में, रामसर घोषणापत्र के मुताबिक ‘अंतरराष्ट्रीय महत्व की आद्र भूमि‘ के रूप में चुना गया.
  • प्रवासी पंछी लगभग 12 हजार किमी. से भी ज्यादा की दूरियाँ तय करके चिल्का झील आते हैं.
  • चिल्का झील को 32 किमी. लंबी, संकरी, बाहरी नहर इसे बंगाल की खाड़ी से जोड़ती है.
  • इस झील में डॉलफिन ( Dolphin ) भी पायी जाती हैं, यह इरावदी डॉलफिनों का भी घर हैं.
  • एक सर्वेक्षण के अनुसार, इस झील में लगभग 45% पंछी (भूमि), 32% जलपंछी और 23% बगुले हैं. यहाँ पर लगभग 37 प्रकार के सरीसृप ( इसके अंतर्गत मेढ़क, साँप, छिपकली, मगरमच्छ आदि आते हैं) और उभयचर निवास करते हैं.
  • कैस्पियन सागर ( Caspian Sea ), बयकाल झील ( Baikal Lake ), अरब सागर ( Arabian Sea ) और रूस ( Russia ), मंगोलिया ( Mongolia ), लद्दाख ( Ladakh ), मध्य एशिया ( Central Asia ) आदि विभिन्न दूर दराज़ के क्षेत्रों से यहाँ पछी उड़ कर आते हैं.

चिल्का झील घूमने का सबसे अच्छा समय | Chilka Lake Best Time to Visit

चिल्का झील घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च का होता हैं, क्योंकि इसी समय प्रवासी पक्षियाँ ( Migratory Birds ) यहाँ आती हैं. जनवरी के महीने में मकर मेला (मकर संक्रांति के समय) काली जी का दर्शन करने भक्त और तीर्थयात्री चिल्का आते हैं. देवी माँ काली का मंदिर चिल्का झील के काजली द्वीप पर स्थित हैं.

अन्य मौसम में भी आप चिल्का झील घूमने जा सकते हैं. हर मौसम का अपना अलग ही मजा हैं. चिल्का झील को बरसात के मौसम में घूमने का अपना अलग ही मजा हैं और गर्मी के मौसम में भी आप घूमने जा सकते हैं. सूर्योदय और सूर्यास्त के अनुभव यहाँ की यादगार बन जाते हैं. नौकाविहार और मछली पकड़ने की सुविधा इस झील में उपलब्ध है, जहाँ मछलियाँ प्रचुर मात्रा में हैं.