रोटी शायरी | Roti Shayari in Hindi | Roti Status in Hindi

Roti Shayari

Roti Shayari Status Quotes Poem Kavita Image in Hindi – दोस्तों, इस आर्टिकल में बेहतरीन रोटी शायरी, रोटी स्टेटस, रोटी कविता, रोटी पर अनमोल विचार दिए हुए हैं. इसे पूरा जरूर पढ़े.

रोटी की कीमत व्यक्ति भूख बढ़ा देती है. भूख लगने पर रोटी अमृत समान लगता है. रोटी खाना स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है. भारत में अधिकत्तर घरों में रात में लोग रोटी ही खाते है. रोटी के लिए ही हर कोई परेशान है और जिंदगी में सारी परेशानियाँ रोटी की वजह से ही है. इस पोस्ट में Roti Shayari Status Quotes Poem Image दिए हुए हैं.

Roti Shayari

इक रोटी की भूख किसी को कभी सतायें ना,
सतायें तो मेहनत करे, रोटी के लिए हाथ फैलायें ना.


ग़रीब भूख मिटाने को रोटी लेकर भाग गया,
बड़े दिनों बाद लगता है पूरा भारत जाग गया,
साहब और नेताओं की चोरी सबको दिखती है
लेकिन डर उस वक्त सबकी जुबान सिलती है.
लड्डू सिंह ‘लक्कड़’


अमीरी की चाह कोठी तक,
गरीबी की चाह रोटी तक.


Roti Kavita Hindi

ये रोटी बड़े मेहनत से बनती है,
पहले गेंहूँ की फसल काटी जाती है,
उसे धोया जाता है, सुखाया जाता है,
पीसा जाता है, गूथा जाता है,
बेला जाता है, पकाया जाता,
इसके बाद इसे खाया जाता है.


Roti Poem in Hindi

एक आदमी
रोटी बेलता है
एक आदमी रोटी खाता है
एक तीसरा आदमी भी है
जो न रोटी बेलता है, न रोटी खाता है
वह सिर्फ़ रोटी से खेलता है
मैं पूछता हूँ–
‘यह तीसरा आदमी कौन है ?’
मेरे देश की संसद मौन है।
धूमिल


Roti Status

मेरे खुदा ने आज ये कैसा कमाल कर दिया,
रोटी कमाने निकला तो सिर पर ताज रख दिया.


ख्वाहिशों की कतार बड़ी लम्बी है,
दो वक्त की रोटी मिलना आसान नहीं.


रोटी शायरी

Roti Shayari | Roti status | Roti shayari in Hindi | रोटी शायरी | Quotes on Roti in Hindi

पिता को दिन भर चलाती रही ये रोटी,
माँ को दिन भर थकाती रही ये रोटी,
बच्चों को दूर शहर नचाती रही ये रोटी,
ना जाने क्या-क्या कमाल दिखाती रही ये रोटी.


भूख इक एहसास है जिसे रोटी मिटाती है,
पर मोहब्बत के बिना ये जिन्दगी अधूरी रह जाती है.


जिन्हें पता होती है कीमत रोटी की,
वो बच्चे जिद नही करते है खिलौने की.


कुछ इस कदर अब अपने जीमर जगाएँ,
कि मेहनत करके दो वक्त की रोटी कमाएँ.


Roti Shayari in Hindi

गरीबी की भी बड़े अदब से हंसी उड़ाई जाती है,
इक रोटी देकर हजारों तस्वीर खिचवाई जाती है.


जिंदगी में कभी ख़ुशी इस कदर ना मिले,
जैसे खैरात किसी गरीब को रोटी मिले.


भूख का रिश्ता सिर्फ़ रोटी से है,
चमकती थालियाँ भूख नहीं मिटाती.


रोटी की कीमत शायरी

गरीबों की रोटी के बारे में सोचता कौन है?
स्वार्थ सबके चेहरे पर दिखती है सब मौन है.


जिस भगवान के नाम पर मुझे रोटी मिले,
उस रोटी में मुझे हर पल भगवान दिखे.


परिश्रम करके रोटी कमाना सिखाती है,
शिक्षा कभी भी बेकार नही जाती है.


2 जून की रोटी शायरी

आज खाने में चावल नही, बस रोटी पकाई है,
दो जून की रोटी बड़ी मुश्किल से मिल पाई है.


दो जून की रोटी खाने से किस्मत खुल जाती है,
क्योंकि साल में यह सिर्फ एक बार आती है.


Roti Status in Hindi

Roti Shayari | Roti status | Roti shayari in Hindi | रोटी शायरी | Quotes on Roti in Hindi

भूख के दर्द को कहाँ समझती है ये दुनिया,
रोटी के चोर को सिर्फ चोर समझती है ये दुनिया.


गरीबों की रोटी छीनकर जो काला धन बटोरते है,
वो अपने बच्चों को उन्हीं पैसे से जहर परोसते है.


ताज़ी रोटियाँ हमे स्वस्थ रखती है,
इस ब्रेड ने पूरे शहर को बीमार कर रखा है.


मेहनत की रोटी में ही स्वाद होता है,
वरना पूरा जीवन ही बेस्वाद होता है.


ऐ मेरे दोस्त, पसीना तो बहाना ही पड़ता है,
रोटी कमाने के लिए और रोटी पचाने के लिए.


माँ के हाथ की रोटी शायरी

जब घर में खुश होती है माँ बहू और बेटियाँ,
तभी घर में मिलती है सुकून की रोटियाँ.


माँ के हाथों से बनी रोटी बहुत याद आती है,
जब अपने हाथों से रोटी बनानी पड़ जाती है.


प्रेम का अर्थ मुझे उस वक्त समझ में आया,
जब माँ ने आधा रोटी भी बाँट कर खाया.


दो वक्त की रोटी शायरी

जिन्दगी बीत जाती है दो वक्त की रोटी कमाने में,
पर पेट भी ढंग से नही भरता इस महँगाई के जामने में.


गरीब की चाहत,
दो वक्त की रोटी और चैन हो,
हमारी भी किस्मत में हो
और तुम्हारी भी किस्मत में हो.


जज्बातों को उसने दौलत से तोल दिया,
जब वो दो वक्त की रोटी की कीमत बोल दिया.


इसे भी पढ़े –