चुप पर शायरी | Chup Shayari Status Quotes in Hindi

Chup Shayari

Chup Shayari Status Quotes Image in Hindi – इस आर्टिकल में बेहतरीन चुप शायरी स्टेटस कोट्स आदि दिए हुए हैं. इसे जरूर पढ़े और शेयर करे.

चुप रहना या कम बोलना आसान काम नहीं होता है. बुद्धिमान लोग ही अक्सर चुप रहते है. वो उतना ही बोलते है जितनी जरूरत होती हैं. चुप न रहने की वजह से कई बार रिश्तों में दरार आ जाती है. चुप रहने वाले व्यक्ति की सोचने और समझने की शक्ति ज्यादा होती है.

Chup Par Shayari

ख़ामोश शहर की चीखती रातें,
सब चुप है पर कहने को है हज़ार बातें.


एक हुनर है चुप रहने का,
एक ऐब है कह देने का.


बारी आई जब कुछ कहने की,
आदत हो चुकी थी चुप रहने की.


चुप पर शायरी

मैं शब्द बनूं तुम गीत हो जाना,
अधर चुप रहें तो संगीत हो जाना.


सच कहूँ तो सवाल करते हैं लोग,
चुप रहूँ तो इस्तेमाल करते हैं लोग.


चुप हो जाता हूँ मैं श्रीमती जी से डर के,
बहाती जब वो आँसू, बाल्टी भर भर के.


Chup Shayari in English

Jaroori Nahi Pyar Me Sab Kuchh Kahana,
Pyar Jatane Ka Naya Tareeka Hai Chup Rahana.


Yoon Chupchap Kyon Ho, Iska Raj Bata Do,
Ishq Me Gustakhi Ho Gayi Ho To Saja Do.


Kuchh Mat Kahana Chup Rahna,
Tere Dil Ki Baat Jaan Lenge,
Agar Dil Me Mohabbat Hogi
To Aankhon Se Pahchan Lenge.


Chup Quotes in Hindi

जो चुप रहकर अपना काम करते है,
वहीं लोग जीवन में बड़ा नाम करते है.


चुप रहना भी एक हुनर है,
यह सबको कहाँ आता है.


चुप रहना आसान नहीं है,
जो चुप है वो परेशान नहीं है.


Chup Shayari in Hindi

चुप रहूँगी कोई शिकवा न करूँगी,
अब तू सितम करना, मैं मोहब्बत करूँगी.


कुछ आपका अंदाज है कुछ मौसम रंगीन है,
तारीफ करूँ या चुप रहूँ, जर्म दोनों संगीन है.


ख्वाहिशों ने सिखाया कि मचलना कैसे है,
और हकीकत ने चुप रह कर जीना सिखा दिया.


Chup Status in Hindi

जो बोलते है वो दूसरों की कम सुन पाते है,
जो चुप रहते है वो अक्सर सब जानते है.


गालियाँ देने से कोई ताकतवर नहीं बन जाता,
और चुप रहने से कोई डरपोक नहीं बन जाता.


चुपचाप चले थे जिन्दगी के सफ़र में,
तुम पर नजर पड़ी और गुमराह हो गये.


Chuppi Shayari

हम चुप रहे तो और भी इल्जाम आएगा,
अब कुछ न कुछ जवाब जरूरी सा हो गया.


जो चुप रहकर बर्दाश्त करते है,
वही दुनिया को अच्छे लगते है.


चुप रहने को जब हमसे कहा गया,
झूठ पर नकाब फिर से ढका गया.


Hindi Shayari on Chup Rehna

तुम जब से चुप रहने लगी हो,
बहुत कुछ कहने लगी हो.


मैं तो इस वास्ते चुप हूँ
कि तमाशा न बने,
और तू समझता है मुझे
तुझसे गिला कुछ भी नहीं.


कुछ अपने है इसलिए चुप है,
कुछ चुप है इसलिए अपने है.


चुप शायरी

चुप हैं किसी सब्र से तो पत्थर न समझ हमें,
दिल पे असर हुआ है तेरी बात-बात का.


एक तुम हो सनम कि कुछ कहते नहीं,
एक तुम्हारी यादें है जो चुप रहती नहीं.


जिन्दगी अजनबी मोड़ पर ले आई है,
तुम चुप हो मुझ से और मैं चुप हूँ सबसे!


चुप्पी पर शायरी

पांचाली के चीरहरण पर जो चुप पायें जायेंगे,
इतिहासों के कालखंड में सब कायर कहलायेंगे.


वो हम पर हर इल्जाम लगाते है,
वो हर ख़ता हमे बताते है,
हम तो बस चुप रहते है क्योंकि
वो हम पे अपना हक जताते है.


एक आप हो जो कुछ कहती नहीं,
और एक आपकी यादें है जो चुप रहती नहीं.


मुझे अच्छा लगता है,
तुम्हें चुपके से देखना
तुम्हें हर दुआ में माँगना
शायद ये ही एक तरफ़ा मोहब्बत है.


इतना मत बोलियें की लोग
चुप होने का इन्तजार करें,
इतना बोलकर चुप हो जाईयें
कि लोग दुबारा बोलने का इन्तजार करें.


इसे भी पढ़े –