बुद्धिमानी पर अनमोल विचार | Wisdom Quotes in Hindi

Wisdom Quotes in Hindi

Wisdom Quotes in Hindi – हर व्यक्ति अपनी पूरी जिन्दगी कुछ न कुछ जरूर सीखता हैं, जिससे उसके बुद्धि का विकास होता हैं. व्यक्ति अधिक से अधिक ज्ञान अर्जित करना चाहता हैं ताकि वह बुद्धिमान हो और समाज में उसे सम्मान और उसकी जरूरत की चीजें आसानी से मिल सके. ज्ञान या बुद्धि को परिश्रम के द्वारा ही अर्जित किया जाता हैं. कोई जन्मजात ज्ञानी या बुद्धिमान नही होता हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन Wisdom Quotes दिए गये हैं. इन कोट्स को जरूर पढ़े.

बेस्ट विजडम कोट्स | Best Wisdom Quotes

ख़ुद को और दूसरों को दुखी किये बिना अपनी बात कहना और अपना काम करना ही बुद्धिमानी हैं.

दूसरों को जानना बुद्धिमानी हैं, पर खुद को जानना ज्ञानोदय हैं.

कभी भी कोई व्यक्ति संयोग से ज्ञानी नही होता हैं.

चालाकी बुद्धिमानी नहीं हैं.

हम तीन तरीकों से ज्ञान अर्जित कर सकते हैं, पहला – चिन्तन करके, जो कि सबसे सही तरीका हैं. दूसरा – अनुकरण करके, जो कि सबसे आसान है और तीसरा अनुभव से, जो कि सबसे कष्टकारी हैं.

बड़प्पन बड़े आदमियों के सम्पर्क से नही, अपने गुण, कर्म और स्वभाव की निर्मलता से मिला करता हैं.

दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरूआत हैं.

बुद्धिमान लोगो को जितने अवसर मिलते हैं उससे ज्यादा अवसर बनाते हैं.

अगर आप सही हो तो कुछ भी साबित करने की कोशिश मत करों, वक्त खुद गवाही दे देगा बस आप सही बने रहो.

सच्चा ज्ञान इसी में है कि आप ये समझें कि आप कुछ नहीं जानते हैं.

ख़ुश रहिये, यह ज्ञानी होने का एक तरीका हैं.

ज्ञान उन सभी विचारों से परहेज करने में है जो हमे कमज़ोर बनाते हैं.

मन आपका, बुद्धि आपकी, संस्कार भी आपके तो आप खुश हो या दुखी हो इसके लिए आप ख़ुद ज़िम्मेदार हो. अपने विचार और भावनाओ की जिम्मेदारी ख़ुद लेना सीखे.

सामान्य समझ जब असामान्य मात्रा में हो तो दुनिया उसे बुद्धिमत्ता कहती हैं.

बुद्धि के द्वारा बड़ी से बड़ी मुश्किल पर काबू पाया जा सकता हैं.

मूर्खो से बहस करके कोई भी व्यक्ति बुद्धिमान नही कहला सकता, मूर्ख पर विजय पाने का एकमात्र उपाय यही हैं कि उसकी ओर ध्यान नहीं दिया जाए.

इंसान तब समझदार नहीं होता जब वो बड़ी बड़ी बातें करने लगे, बल्कि समझदार तब होता हैं जब वो छोटी छोटी बातें समझने लगे.

अगर आप किसी दुसरे के लिए दीपक जलाएंगे तो आपका रास्ता भी चमकेगा.

ज्ञान ही सबसे बड़ी अच्छाई हैं और अज्ञानता ही सबसे बड़ी बुराई हैं.

ज्ञान अगर बुद्धि में रहे तो बोझ बनता हैं यदि व्यवहार में आ जाएँ तो आचरण बनता हैं.