बच्चों के लिए बेहतरीन कविता | Kids Poem in Hindi

Kids Poem in Hindi – बच्चे बड़े ही शरारती और प्यारे होते हैं. बच्चों को भगवान का रूप भी कहा जाता हैं. इस पोस्ट में Kids Poem in Hindi, Child Poem in Hindi, Poems for Children in Hindi, Kids Kavita आदि मिलेगें. आशा करता हूँ कि आपको यह पसंद आयेंगे.

Best Kids Poem in Hindi | बेस्ट किड्स पोएम हिंदी में

एक चिड़िया के बच्चे चार,
घर से निकले पंख पसार,
पूरब से पश्चिम को जाएँ,
उत्तर से फिर दक्षिण को आयें,
घूम-घाम जब घर को आएँ,
मम्मी को एक बात सुनाएँ,
देख लिया हमने जग सारा,
अपना घर हैं सबसे प्यारा.


मेरी गुडिया – Best Kids Poem

गुडिया मरी रानी हैं,
लगती बड़ी सयानीहैं,
गोरे गोरे गाल हैं,
लम्बे लम्बे बाल हैं,
आँखे नीली नीली हैं,
साड़ी पीली पीली हैं,
पड़ा गले में हार हैं,
मुझको इससे प्यार हैं,
अपने पास बिठाती हूँ,
बर्फी उसको खिलाती हूँ,
मीठी उसकी बाते हैं,
गुडिया मेरी रानी हैं,
लगती बड़ी सयानी हैं…


आलू-कचालू बेटा कहाँ गये थे,
बंदर की झोपड़ी में सो रहे थे,
बन्दर ने लात मारी रो रहे थे,
मम्मी ने प्यार किया हँस रहे थे,
पापा ने पैसे दिए नाच रहे थे,
भैया ने लडडू दिए खा रहे थे…


गिनती – Poem for Kids

एक, दो, तीन चार
आज शनिवार हैं कल इतवार,
पाँच, छः, सात, आठ
याद करूँगा सारा पाठ,
इसके आगे नौ और दस,
हो गई गिनती पूरी बस…


चींटी रानी – Kids Poem

सुधड सयानी चींटी रानी,
मीठी चीजों की दिवानी,
जितनी छोटी उतने गुण,
सदा काम करने की धुन,
एक बार जो दिल में ठाना,
बस पूरा करके दिखलाना…


देश की शान – Best Kids Poem in Hindi

हम नन्हे मुन्हे बच्चे हैं,
दांत हमारे कच्चे हैं,
हम भी सरहद जायेंगे,
सीने पर गोली खायेंगे,
मर जायेंगे, मिट जायेंगे,
देश की शान बढ़ाएंगे,
देश की शान बढ़ाएंगे…


चंदा मामा दूर के – Nice Kids Poem

चंदा मामा दूर के,
पुए पकाए गुर के,
आप खाएँ थाली में,
मुन्ने को दें प्याली में,
प्याली गई टूट,
मुन्ना गया रूठ,
बजा-बजा क्र तालियाँ,
मुन्ने को मनाएंगे,
दूध मलाई खायेंगे…


एक-एक – Kids Poem

एक-एक यदि पेड़ लगाओ,
तो तुम बाग़ लगा डोगे,
एक-एक यदि ईट जोड़ो,
तो तुम महल बन दोगे,
एक-एक यदि पैसा जोड़ो,
तो बन जाओगे धनवान,
एक-एक यदि अक्षर पढ़ लो,
तो बन जाओगे विद्वान.


अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो,
अस्सी नब्बे पूरे सौ,
सौ में लगा धागा,
चोर निकल के भागा…


चुहिया रानी – Latest Kids Poem

चुहिया रानी, चुहिया रानी,
लगती हो तुम बड़ी सयानी,
जैसे हो इस घर की रानी,
तबी तो करती हो मनमानी,
कुतर-कुतर सब कुछ खा जाती,
आहट सुन झटसे छुप जाती,
जब भी बिल्ली मौसी आती,
दुम दबा बिल में घुस जाती…


चंदा मामा – Poem for Kids

चंदा माम गोल मटोल,
कुछ तो बोल, कुछ तो बोल,
कल थे आधें, आज हो गोल,
खोल भी दो अब अपनी पोल,
रात होते ही तुम आ जाते,
संग-साथ सितारे लाते,
लेकिन दिन में कहाँ छिप जाते,
कुछ तो बोल, कुछ तो बोल…


तितली और कली – Best Poem for Children

हरी दाल पर लगी हुई थी,
नन्ही सुंदर एक कली
तितली आकर उससे बोली,
तुम लगती हो बड़ी भोली,

अब जागो तुम आँखे खोलो
और हमारे संग खेलों,
फैले सुंदर महक तुम्हारी,
महके सारी गली-गली

कली छिटककर खिली रंगीली,
तुरंत खेल की सुनकर बात,
साथ हवा के लगी भागने,
तितली छूने उसे चली…


हाथी की शादी – Cute Kids Poem

हाथी राजा की थी शादी,
सारा जंगल था बराती.

ऊँट, हिरन व छोड़े साजे,
झूम-झूम कर मोर भी नाचे.

चिड़िया मैना, कोयल गायें,
काला भालू ढोल बजायें…

देखो तो बंदर-मामा भी,
धोती कुर्ता पहन क्र आये,

जब चीता और शेर पधारे,
काँप उठे सब दर के मारे,

शेर ने दी जैसे ही बधाई,
सब के मुख पर रौनक आई.

जंगल में बज उठी शहनाई,
सब ने जमकर दावत खाई.


पेड़ लगाओ – Child Poem

पेड़ लगाओ, पेड़ लगाओ,
हरा भरा जीवन बनाओ,
छाया ये हमको देते हैं,
फल ये हमको देते हैं,
बाढ़ से हमको बचाते हैं,
प्रदूषण दूर हटाते हैं,
हम भी पेड़ लगायेंगे,
संसार को हरा-भरा बनायेंगे.


हँसकर बोलो – Kids Poem

जब बोलो, तब हँसकर बोलो,
बातों में मिसरी-सी घोलो,
जब बोलो, तब सच-सच बोलो,
कभी ना बातें रच-रच बोलो,
जब बोलो, तब झुक कर बोलो,
सोच समझकर रूककर बोलो,
अपने मन की बातें खोलो,
जब बोलो, तब हँसकर बोलो.