21 जून – अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

5 June International Yoga Day

“अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस”  हर वर्ष 21 जून को मनाते हैं.  21 जून का दिन वर्ष का सबसे लम्बा दिन होता हैं और योग भी मनुष्य  को लम्बी आयु प्रदान करता हैं. पहली बार यह 2015 में मनाया गया. इस दिवस को भारत में बड़े ही उत्साह के साथ मनाया गया जिसमें लोगो ने बढ़-चढ़कर भाग लिया. पहले योग दिवस ने कई गिनीज रिकार्ड्स भी बनाए.

योग क्या होता हैं? (What is Yoga?) – योग एक आध्यात्मिक प्रकिया हैं जिसमे शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने का काम होता हैं. योग हमारे मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक विकारो को दूर करता हैं और जीवन को सुखमय बनाता हैं.

“अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” से सम्बंधित रोचक तथ्य

  1. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” की पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के द्वारा किया था.
  2. 11 दिसम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्यों के द्वारा 21 जून को “अंतराष्ट्रीय योग दिवस” घोषित किया गया.
  3. “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” के प्रस्ताव को 90 दिन में बहुमत के साथ पारित किया गया, इस प्रस्ताव को मंजूरी देने के लिए “संयुक्त राष्ट्र संघ” ने सबसे कम समय लिया.
  4. 21 जून 2015 को पहला “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” मनाया गया.
  5. पहले “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” में 35 मिनट तक 21 योग आसन (योग मुद्राओं) को करवाया गया.
  6. दिल्ली में (21 जून  2015) पहले “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” ने दो गिनीज रिकार्ड्स बनाए – 1) सबसे बड़ा योग क्लास 35,985 लोगो ने एक साथ भाग लिया. 2) इस आयोजन में 84 देशो के लोगो ने भाग लिया था.
  7. “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” समारोह का कवरेज दूरदर्शन द्वारा किया गया. इस तरह का प्रसारण या कवरेज “गणतंत्र दिवस” पर ही होता हैं.
  8. यह दिवस विवादों में भी रहा, सरकार ने “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” में “सूर्य नमस्कार” और “श्लोक” की अनिवार्यता को योग कार्यक्रम से हटा दिया और मुसलमानों को इस आयोजन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया.

योग का महत्व (Importance of Yoga)

दिनों-दिन बढती बीमारी, प्रदूषण, मानसिक तनाव, वर्कलोड और भी अन्य बहुत से कारण हैं जिसकी वजह से हम अस्वस्थ (बीमार) होते हैं इसलिए एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए योग जरूरी हैं.

योग का हमारे जीवन में बहुत महत्व हैं यदि आप किसी भी लक्ष्य या उद्देश्य को अपने जीवन में प्राप्त करना चाहते हैं तो आपका मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक रूप से सवस्थ होना बहुत जरूरी हैं. दिनों-दिन बढती व्यस्तता के कारण लोग एक्सरसाइज या योग के लिए समय नही निकाल पाते और कम उम्र में ही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती हैं और हम बीमार पड़ने लगते हैं. इसलिए योग हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा होना चाहिए.

यदि आप प्रतिदिन योग नही कर सकते तो कम से कम वीकएंड (शनिवार और रविवार) को जरूर करे. इससे आपके शरीर में फुर्ती, चुस्ती और एनर्जी बनी रहेगी जो आपको अपने कार्य को अच्छे से करने में मदत करेगा. अब योग के नये-नये तरीके आ गये हैं आप इसे आसानी से अपने घर पर कर सकते हैं. योग करने का तरीका आप यूट्यूब विडियो से भी सीख सकते हैं. आपका जीवन तभी तक सुखमय हैं जब तक आप स्वस्थ हैं.
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कोट्स और मेसेज (International Yoga Day Quotes and Message)