Gyan Shayari (ज्ञान शायरी)

Gyan Shayari (ज्ञान शायरी) – वर्तमान समय में बहुत से रिश्ते उलझते जा रहे है लोगो अपने सुख में इतने व्यस्त है कि दूसरो का दुःख दिखाई नही देता या देखना नही चाहते है. इसमें बहुत से ऐसे रिश्ते होते हैं जैसे बुढ़ापा में माँ-बाप के सेवा बेटे के द्वारा न किया जाना, बहु द्वारा सासु-ससुर पर अत्याचार या झूठी या पाखंड भरी ईश्वर की भक्ति इस तरह के कुकर्म मनुष्य के द्वारा किया जाता हैं और इसी पर शायरी दिया गया हैं.

इस पोस्ट में आपको सासु-बहु शायरी (Sasu-Bahu Shayari), माँ-बेटा शायरी (Maa-Beta Shayari), बाप-बेटा शायरी (Baap-Beta Shayari) और पाखण्ड पर शायरी (Pakhand Par Shayari) आदि मिलेंगे. इन शायरी में वर्तमान समय के परिवेश को दर्शाया गया हैं.

ज्ञान शायरी हिंदी में (Gyan Shayari in Hindi)

Gyan Bhari Shayari

ज्ञान भरी शायरी (Gyan Bhari Shayari)

Gareebi Shayari

ग़रीब शायरी (Gareebi Shayari)

Dharm Shayari

धर्म शायरी (Dharm Shayari)

Best Baap Beta Imotional Shayari

बेस्ट बाप बेटा इमोशनल शायरी (Best Baap Beta Emotional Shayari)

Baap Beta Emotional Shayari

बाप बेटा इमोशनल शायरी (Baap Beta Emotional Shayari)

Gyan Shayari

ज्ञान शायरी (Gyan Shayari)