विश्व नारियल दिवस | World Coconut Day

World Coconut Day in Hindi

World Coconut Day in Hindi – हर साल ‘2 सितम्बर‘ को विश्व नारियल दिवस मनाया जाता हैं. विश्व नारियल दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य नारियल की खेती और उद्योग के प्रति लोगो को जागरूक करना हैं. नारियल की खेती और उद्योग से भारत में लगभग करोड़ो लोगो को रोजगार मिलता हैं. नारियल दिवस के दिन नारियल से बनी विभिन्न वस्तुओं की प्रदर्शनियाँ लगाई जाती हैं. नारियल के फल को पूर्ण रूप से विभिन्न रूपों में प्रयोग करते हैं.

नारियल की उपयोगिता | Utility of Coconut

  • नारियल की खेती और इससे सम्बन्धित उद्योग भारत में करोड़ो लोगो को रोजगार प्रदान करता है.
  • नारियल का पानी पौष्टिक और स्वास्थवर्धक होता हैं. पेट संबंधी समस्याओं के लिए बहुत लाभदायक होता हैं. नारियल या कच्चा नारियल खाना भी स्वास्थ लाभ देता हैं.
  • कच्चा और पक्का नारियल कई प्रकार के मिठाई और पकवानों के बनाने में इस्तेमाल किया जाता हैं.
  • नारियल के रेशों से गद्दे, थैले तथा अन्य कई प्रकार के उपयोगी वस्तुएं बनाई जाती हैं. इनके बने थैलों से प्रदूषण नहीं होता है, जैसाकि प्लास्टिक के थैलों से होता हैं.
  • नारियल को पवित्र माना जाता हैं, इसका उपयोग धार्मिक कर्म कांडों में भी किया जाता हैं.
  • नारियल से बनी वस्तुओं के निर्यात से हमारे देश को लगभग हजारों करोड़ रूपये की राष्ट्रीय आमदनी प्राप्त होती है.

नारियल से सम्बन्धित अन्य तथ्य | Other Facts related to Coconut

  • नारियल का वैज्ञानिक नाम “कोको न्यूसिफेरा ( Coco Nucifera )” है और यह पाम पारिवार से सम्बन्ध रखता हैं.
  • विश्व में सबसे ज्यादा नारियल उत्पादन इंडोनेशिया (Indonesia), फिलीपींस ( Philippines ), भारत ( India ), ब्राजील ( Brazil ) और श्रीलंका ( Sri Lanka ) में होता हैं.
  • भारत में चार स्थानों पर सबसे अधिक नारियल का उत्पादन होता हैं उन स्थानों के नाम – केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश हैं.
  • नारियल नमकीन मिट्टी में समुद्र के किनारे उगाया जाता हैं.