उत्तर प्रदेश की चुनाव पर कविता | Uttar Pradesh Chunav Poem in Hindi

Uttar Pradesh Chunav ( Election ) Poem Kavita Poetry in Hindi – इस आर्टिकल में उत्तर प्रदेश की चुनाव पर कविता दिए हुए है. इसे जरूर पढ़े और पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

उत्तर प्रदेश में राजनीतिक गर्मी शुरू हो चुकी है. विभिन्न राजनीतिक दल जनता को लुभाने के लिए प्रयास करना शुरू कर दिया है. मुझे समझ में नहीं आता है कि कोई भी पार्टी मुद्दे की बात क्यों नहीं करती है? युवा और नौजवानों की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है.

Uttar Pradesh Chunav Poem in Hindi

Uttar Pradesh Ki Chunav Par Kavita
Uttar Pradesh Ki Chunav Par Kavita | Uttar Pradesh Chunav Poem in Hindi

उत्तर प्रदेश की राजनीति सिर्फ
विकास पर होनी चाहिए,
जनता की आस ना टूटे
उस विश्वास पर होनी चाहिए,
पुलिस देखकर डर ना लगे
सुरक्षा के एहसास पर होनी चाहिए,
प्रदेश की राजनीति सिर्फ
विकास पर होनी चाहिए।

ग्रामीण क्षेत्रों के टूटे सड़कों
की सूरत बदलनी चाहिए,
गर्मी के दिनों में लाइट की
कटौती कम होनी चाहिए,
रोजगार के अवसर बढ़े
युवाओं के चेहरे पर ख़ुशी होनी चाहिए
प्रदेश की राजनीति
सिर्फ विकास पर होनी चाहिए।

- Advertisement -

जिला अस्पतालों के
हालत बदलने चाहिए,
किसानों की आय बढ़ाने के
उपाय निकलने चाहिए,
गाँव के सरकारी स्कूलों की
शिक्षा गुणवत्ता स्तर
तेजी से बढ़ना चाहिए,
प्रदेश को तरक्की की रेस में
भाग लेने चलना चाहिए।
जनता का भरोसा ना टूटे
उस आस पर होनी चाहिए
उत्तर प्रदेश की राजनीति
विकास पर होनी चाहिए।


उत्तर प्रदेश चुनाव पर कविता

चुनाव के दौरान हर पार्टी वादा कर देती है हम इतने लाख रोजगार देंगे। आप वादा ना करें तो भी सरकारी नौकरी के रिक्त पद को भरना पड़ेगा। इसमें आपने नया क्या किया? रोजगार सृजन कहाँ किया? सत्ता में आई पार्टी को प्राइवेट नौकरियों को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए।

गाँव के सरकारी स्कूल और जिला अस्पताल के हालात से हर कोई परिचित है. लेकिन इनके बारें में कभी बात ही नहीं होती है. जब मुद्दों पर बहस होता है तो लगता है कि जैसे पहले से बनी-बनाई स्क्रिप्ट हो. सवाल पूछने वाले डरते है और जवाब देने वालों को यहीं नहीं पता कि देश का यह बुनियादी मुद्दा है.

जब देश का युवा अपनी पार्टी की कमियों पर बोलेगा, तभी वो अपने और देश के लिए तरक्की के दरवाजे खोलेगा। फिलहाल उत्तर प्रदेश की चुनाव पर कविता का मजा लें.

झूठ-प्रपंच पर सत्य का वार हो
इस बार सिर्फ विकास की बयार हो…

बेटियों को मिले न्याय,
मान और सम्मान,
सत्ता कुचल ना दे
अहंकार की गाडी से किसान,
बेरोजगारी की दलदल से निकले
प्रदेश का युवा और नौजवान,
आस्था रखो दोनों पर
चाहे धर्म हो या विज्ञान।

झूठ-प्रपंच पर सत्य का वार हो
इस बार सिर्फ विकास की बयार हो…


Uttar Pradesh Chunav Poetry in Hindi

नेता जी दौड़ रहे है गाँव-गाँव
उत्तर प्रदेश में चल रहा है चुनाव।

धर्म देखकर वोट दे या
जाति देखकर वोट दे या
विकास देखकर वोट दे या
ईमानदारी देखकर वोट दे
यह सोचकर माथा जाता है चकरा
लाभ की गठरी जाता है पकड़ा
गठरी खरीद कर खरीदते है कोट
फिर साहब बनकर देने जाते है वोट.

नेता जी दौड़ रहे है गाँव-गाँव
उत्तर प्रदेश में चल रहा है चुनाव

शिक्षा व्यवस्था को देखकर वोट दे या
स्वास्थ्य व्यवस्था को देखकर वोट दे या
सुरक्षा व्यवस्था को देखकर वोट दे या
अपना लाभ देखकर वोट दे
इन सब बातों में हो जाते है कंफ्यूज
नेता जी लालच देकर कर लेते है
हमारे कीमती वोट का यूज़…

नेता जी दौड़ रहे है गाँव-गाँव
उत्तर प्रदेश में चल रहा है चुनाव


UP Election Poem in Hindi

UP Election Poem in Hindi
UP Election Poem in Hindi | यूपी चुनाव पर कविता | यूपी इलेक्शन पोएम इन हिंदी

उत्तर प्रदेश का चुनाव जारी है,
महँगी गाड़ियाँ नेताओं की सवारी है,
कुर्सी सभी को अपनी-अपनी प्यारी है,
फिर जनता को ठगने की तैयारी है.

गरीबों के आगे फिर वो हाथ जोड़ेगा,
लेकिन दिल में भरी मक्कारी होगी,
माइक पर वो सबसे ज्यादा चिल्लायेगा
जिसकी नेता बनने की दावेदारी होगी।

इतना खर्च कर रहा है चुनाव में
तो घोटालों में उसकी हिस्सेदारी होगी,
तुम्हारे वोट से जब वो जीत जायेगा,
तो इसमें हार तुम्हारी करारी होगी।


राजनीति की दृष्टि से देखा जाएँ तो उत्तर प्रदेश का चुनाव विशेष महत्व रखता है. उत्तर प्रदेश की विधानसभा में 404 सीट है. केंद्र में रही सरकारों की नजर हमेशा यूपी पर होती है. यहाँ शुरू से ही जाति और धर्म की राजनीति रही है. इसका मुख्य कारण अशिक्षा की कमी और पिछड़ापन है. कोई भी सरकार खुद कितना भी अच्छा बताएं लेकिन हकीकत यही है कि भ्रष्टाचार हमेशा चरम पर रहा है. शिक्षा और स्वास्थ्य की व्यवस्था दयनीय है.

मैं यह नहीं कह रहा हूँ कि उत्तर प्रदेश में विकास नहीं हुआ है. मेरे कहने का अभिप्राय यह है कि यहाँ के विकास की रफ़्तार बड़ी धीमी रही है. ज्यादातर शिक्षित और अशिक्षित युवाओं को दूसरे प्रदेश में जाकर नौकरी करनी पड़ती है. क्योंकि यहाँ के शहरों प्राइवेट जॉब के अवसर बहुत कम है. उत्तर प्रदेश में शिक्षा के नाम लूटा जाता है. आप अपने आस-पास के विद्यालय को देखिये वो किसी ना किसी नेता का होगा। यह ऐसा व्यक्ति होगा जिसका भूतकाल राजनीति से जुड़ा हुआ हो या भविष्य जुड़ेगा।

आशा करता हूँ इस पोस्ट में दिए Uttar Pradesh Chunav ( Election ) Poem Kavita Poetry in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इसे भी पढ़े –

Latest Articles