बेटा शायरी | Son Shayari in Hindi

Shayari for Son

Son Shayari in Hindi ( Beta Shayari ) – अक्सर ऐसा देखा जाता हैं कि पुत्र के प्रति माँ बाप का स्नेह अधिक होता हैं परन्तु अब समय बदल रहा हैं और पुत्र-पुत्री को लोग एक समान मानते हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन बेटा शायरी ( Beta Shayari ), बाप बेटा शायरी ( Baap Beta Shayari ), बेटे के लिए शायरी ( Bete Ke Liye Shayari ), पुत्र पर शायरी ( Putra Par Shayari ), बच्चे की मुस्कान शायरी , मासूम बच्चा शायरी आदि दिए हुए हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े. आशा करता हूँ कि ये शायरी आपको पसंद आयेंगे.

बेटे के लिए शायरी | Son Shayari in Hindi

परेशान जरूर होते है माँ-बाप अपनी हालात से,
फिर भी बहुत ज्यादा प्यार करते है अपनी संतान से.
Son Shayari


पिता अपने पीठ पर बैठाकर दुनिया दिखाते है,
दुनिया देखकर बेटा उन्हें अपनी पीठ दिखाता है.


अपने बच्चे को पीठ पर बैठाकर दुनिया दिखाते हैं,
अक्सर माँ-बाप अपने हिस्से की खुशिया लुटाते हैं.


बच्चे की किलकारी कानों से टकराती हैं,
तब माता-पिता की ख़ुशिय बढ़ जाती हैं.


सन शायरी | Son Shayari

कोई कुछ भी कहे ये बात पक्की होती हैं,
पिता की डांट में भी बेटे की तरक्की होती हैं.


जब पिता बच्चों की ख्वाहिशों के लिए पसीना बहाता हैं,
बच्चे को एक बड़ी प्रेरणा और शिक्षा मिल जाता हैं,
पिता के गुण ही तो बच्चे सीखते हैं
जीवन में मुसीबतों से लड़ने का हौसला मिल जाता हैं.


कंधे पर बैठा कर पूरी दुनिया को दिखाते हैं,
पापा अच्छे बुरे की समझ हमको सिखाते हैं.


Baap Beta Shayari | बाप बेटा शायरी

इस दुनिया में जीना तो माँ-बाप सिखा देते हैं,
पर माँ-बाप के बिना ये पूरी दुनिया जीना नहीं सिखा पाती हैं.
Son Shayari


बच्चे अपनी माँ-बाप के जान बन जाते हैं,
माँ-बाप बच्चे की गम में उसकी मुस्कान बन जाते हैं.


बेटे पर माँ-बाप का कर्ज होता हैं,
बुढ़ापे में देखभाल करना बेटे का फ़र्ज होता हैं.


जो बेटा माँ-बाप का दिल दुखायेगा,
ऐसे पापों का हिसाब कौन चुकायेगा,
बुढ़ापा सबको आती हैं ध्यान रखना
वक्त एक दिन तुम्हें भी उसी मोड़ पर लायेगा.


शायरी फॉर सन | Shayari for Son in Hindi

बेटे के लिए अब माँ-बाप ख़ास नहीं है,
आज के दौर में माँ-बाप को बेटे से आस नहीं है.
Son Shayari


तुझे सूरज कहूँ या चंदा, तुझे दीप कहूँ या तारा,
मेरा नाम करेगा रौशन, जग में मेरा राज दुलारा.


ऊँगली पकड़ का माँ-बाप चलना सिखाते हैं,
उनका हाथ मत छोड़ना जब वो बूढ़े हो जाते हैं.
Son Shayari in Hindi


पिता का अभिमान होता हैं बेटा,
भले शैतान हो पर घर का जान होता है बेटा.


हर माँ-बाप का बेटा बड़ा हो जाता है,
जब वो अपने पैरों पर खड़ा हो जाता है.
Son Shayari


यह कैसा कलयुग आया है,
बेटे ने बाप पर हाथ उठाया है.


आप नजरों के सामने हो
तो आशीर्वाद मिलता है पापा,
अकेलेपन में आपका
साथ मिलता है पापा.


Best Line for Son in Hindi

अगर बेटे की वजह से माँ-बाप रोते है,
ऐसे बेटे सिर्फ आस्तीन के सांप होते हैं.


धोखा करने से भरोसे की दुनिया उजड़ जाती है,
खुद के गुनाह गिनूँ तो अंगुलियां कम पड़ जाती है,
शायद कल जवान होकर ये बेटा पूछे न पूछे माँ को
जिसकी ख़्वाहिश पर माँ-पिताजी से लड़ जाती है.


बेटे को बहुत पढ़ाया,
फिर भी बेटे को अक्ल नहीं आया,
क्योंकि बुढ़ापें में माँ-बाप का
दर्द समझ नहीं पाया।
Best Line for Son in Hindi


खेतों में अन्न पैदा होते है कर्म से,
बेटे की तरक्की होती है पिता के धर्म से.


होठों की मुस्कुराहट से गम को दबा कर बैठे है,
मेरे पिता बहुत कुछ मुझसे छुपा कर बैठे है.
Shayari on Son


पुत्र पर शायरी | Shayari on Son

कितना भी कमा लो फिर भी गरीबी नजर आती है,
जिंदगी में ऐश तो सिर्फ बाप के ही कैश से होता है.


अपनी ख्वाहिशे अधूरी रखकर
बेटे की हर ख्वाहिश पूरी करते है,
वो पिता बड़े ही खुशनसीब होते है
जिसके बेटे इस बात को समझते हैं.
बेटा शायरी


मेरे हर इक ख़्वाहिश पर उन्हें जान लुटाते देखा है,
पिता के स्वरूप में मैंने ईश्वर को अपने पास देखा है.


हर माँ-बाप अपनी संतान की ख़ुशी के लिए
अपनी जिंदगी लुटाते हैं,
फिर भी कुछ माँ-बाप के हिस्से में
सिर्फ आंसू ही आते हैं.
Bete Par Shayari


आँखों ही आँखों में कुछ बात कह रहा है,
पैदा होते ही मुझको ये बाप कह रहा है.


पुत्र शायरी | Best Line for Son in Hindi

जिन बच्चों की परवरिश में माँ का दुलार नहीं होता,
उन्हीं बच्चों के दिल में माँ के लिए प्यार नहीं होता।


पापा आपसे ही तो मेरी दुनिया है,
आपकी खुशियों में ही तो मेरी खुशियां है.


उनकी कोई ख्वाहिश हो तो बहाने मत बना देना,
माँ-बाप की आँखों में कभी आंसू मत आने देना।


फर्क नहीं पड़ता है दुनिया वाले क्या कहते है,
मैं बहुत अच्छा हूँ ऐसा मेरे माँ-बाप कहते हैं.


देख बेटे की तरक्की को बाप भी रोया होगा,
वृद्धा-आश्रम में मिलने पिता से बेटा आया होगा।


मैं तो पत्थर हूँ मेरे माँ-बाप ही शिल्पकार है,
मेरी हर तरक्की और तारीफ के वो ही हकदार है.


बस एक कर्ज चुकाना है मुझको,
जिस माँ ने मुझे जन्म देकर मेरी जिंदगी सवारा है
उस माँ को जिंदगी भर संभालना है मुझको।


क्या तुम्हे पता है
कैसे तुम्हारे अरमानों को है पाला,
क्या सच में तुम्हें कभी नजर नहीं आया
पिता के पैरों का छाला।
Father and Son Shayari


अगर बेटा बाप के कंधे तक आने लगे
तो बेटे को समझ लेना चाहिए कि
जिस कंधे पर बैठ कर मेला देखा अब उस
कंधे का कर्ज चुकाने का समय आ गया है.


ना जाने क्या हो गया,
कुंठित हुआ समाज,
संताने ही रौंदती
माता-पिता की लाज.


पुत्र शायरी विडियो | Son Shayari Video Hindi

इसे भी पढ़े –