बेटा शायरी | Son Shayari

Shayari for Son

Son Shayari in Hindi ( Beta Shayari ) – अक्सर ऐसा देखा जाता हैं कि पुत्र के प्रति माँ बाप का स्नेह अधिक होता हैं परन्तु अब समय बदल रहा हैं और पुत्र-पुत्री को लोग एक समान मानते हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन बेटा शायरी ( Beta Shayari ), बाप बेटा शायरी ( Baap Beta Shayari ), बेटे के लिए शायरी ( Bete Ke Liye Shayari ), पुत्र पर शायरी ( Putra Par Shayari ), बच्चे की मुस्कान शायरी , मासूम बच्चा शायरी आदि दिए हुए हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े. आशा करता हूँ कि ये शायरी आपको पसंद आयेंगे.

बेटे के लिए शायरी | Shayari for Son

इस दुनिया में जीना तो माँ-बाप सिखा देते हैं,
पर माँ-बाप के बिना ये पूरी दुनिया जीना नहीं सिखा पाती हैं.


अपने बच्चे को पीठ पर बैठाकर दुनिया दिखाते हैं,
अक्सर माँ-बाप अपने हिस्से की खुशिया लुटाते हैं.


बच्चे की किलकारी कानों से टकराती हैं,
तब माता-पिता की ख़ुशिय बढ़ जाती हैं.


Baap Beta Shayari | बाप बेटा शायरी

कोई कुछ भी कहे ये बात पक्की होती हैं,
पिता की डांट में भी बेटे की तरक्की होती हैं.


जब पिता बच्चों की ख्वाहिशों के लिए पसीना बहाता हैं,
बच्चे को एक बड़ी प्रेरणा और शिक्षा मिल जाता हैं,
पिता के गुण ही तो बच्चे सीखते हैं
जीवन में मुसीबतों से लड़ने का हौसला मिल जाता हैं.


कंधे पर बैठा कर पूरी दुनिया को दिखाते हैं,
पापा अच्छे बुरे की समझ हमको सिखाते हैं.


सन शायरी | Son Shayari

बच्चे अपनी माँ-बाप के जान बन जाते हैं,
माँ-बाप बच्चे की गम में उसकी मुस्कान बन जाते हैं.


बेटे पर माँ-बाप का कर्ज होता हैं,
बुढ़ापे में देखभाल करना बेटे का फ़र्ज होता हैं.


जो बेटा माँ-बाप का दिल दुखायेगा,
ऐसे पापों का हिसाब कौन चुकायेगा,
बुढ़ापा सबको आती हैं ध्यान रखना
वक्त एक दिन तुम्हें भी उसी मोड़ पर लायेगा.


शायरी फॉर सन | Shayari for Son in Hindi

तुझे सूरज कहूँ या चंदा, तुझे दीप कहूँ या तारा,
मेरा नाम करेगा रौशन, जग में मेरा राज दुलारा.


ऊँगली पकड़ का माँ-बाप चलना सिखाते हैं,
उनका हाथ मत छोड़ना जब वो बूढ़े हो जाते हैं.


पिता का अभिमान होता हैं बेटा,
भले शैतान हो पर घर का जान होता है बेटा.


इसे भी पढ़े –