रिश्तों पर बेहतरीन शायरी | Relationship Shayari

किसी को नजरों में ना बसाओ,
क्योकि नजरों में सिर्फ “सपने” बसते हैं,
बसाना ही हैं तो दिल में बसाओ,
क्योकि दिल में सिर्फ “अपने” बसते हैं.


दिल से लिखी बात दिल को छू जाती हैं,
ये अक्सर अनकही बात कह जाती हैं,
कुछ लोग दोस्ती के मायने बदल देते हैं,
और
कुछ लोगो की दोस्ती से दुनिया बदल जाती हैं.


रिश्ते कभी भी “कुदरती” मौत नही मरते
इनका हमेशा ‘इंसान’ ही कत्ल करता हैं
‘नफ़रत’ से
‘नजरअंदाजी’ से
तो कभी ‘गलतफ़हमी’ से…!!!


साथ छोड़ने वालों को तो एक बहाना चाहिए,
वरना निभाने वाले तो मौत के दरवाजे तक साथ नही छोड़ते.


- Advertisement -

रिश्ते-नाते कभी जिन्दगी के साथ-साथ नही चलते,
रिश्ते एक बार बनते हैं और फिर जिन्दगी रिश्तों
के साथ साथ चलती हैं…


हमारी ‘कद्र’ उन्हें तब होगी..
जब मतलब के ‘रिश्ते’ और
रिश्तों का ‘मतलब’ समझ आएगा…


वक्त कुछ यूँ कट गया,
हम दोनों के हिस्से आधा-आधा बंट गया…


रिश्तों की ही दुनिया में अक्सर ऐसा होता हैं,
दिल से इन्हें निभाने वाल ही रोता हैं,
झुकना पड़े तो झुक जाना अपनों के लिए
क्योकि हर रिश्ता एक नाजुक समझौता होता हैं.


माफ़ी मागने से कभी यह साबित नही होता
कि हम गलत हैं और वो सही हैं…
माफ़ी का असली मतलब हैं कि हममें रिश्ता
निभाने की काबलियत उससे ज्यादा हैं…


रिश्ते पंछियों के समान होते हैं,
जोर से पकड़ो तो मर सकते हैं,
धीरे से पकड़ो तो उड़ सकते हैं,
लेकिन प्यार से पकड़ के रखो,
तो जिन्दगी भर साथ रह सकते है…


Latest Articles