पछतावा शायरी | Regret Shayari

Regret Shayari

Regret Shayari in Hindi ( Pachtawa Shayari ) – इस पोस्ट में बेहतरीन पछतावा शायरी दिए हुए है. इन शायरी को जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें.

बेस्ट रिग्रेट शायरी | Best Regret Shayari

बीतें हुए लम्हों को सोचकर पछतावा न कर,
उम्मीद और जूनून को जगा और कुछ नया कर.


यूँ ही उठेगा एक दिन जनाजा मेरा,
आएगी अँधेरी रात न होगा सवेरा,
हो गया इश्क में नेक बन्दा हलाल,
रहेगा तुझे जिंदगी भर यहीं मलाल.


अब सजा दे ही चुके हो तो मेरा हाल ना पूछना,
अगर मैं बेगुनाह निकला तो तुम्हें पछतावा बहुत होगा.


कहीं पछतावा न बन जायें ये बेरूखी तुम्हारी,
सोचों तब क्या करोगें जब याद आएगी हमारी.


जीवन में पछतावा करना छोड़ो,
और कुछ ऐसा करों तुम्हें छोड़ने वाल पछताएँ.


सम्भल कर बोलों ताकि दिल दुःख ना जाएँ,
पछतावा बहुत होता है जब इंसान कद छोटा हो जाएँ.


इश्क कुछ इस हिसाब से करना
अगर वो तेरा साथ छोड़ जायें,
पछतावा उसके हिस्से में आयें.


इसे भी पढ़े –