Quality Quotes | गुण पर अनमोल विचार

Quality Quotes in Hindi

Quality Quotes in Hindi – “गुणीजनों के लिए कुछ भी असम्भव नहीं हैं“. इस पोस्ट में “गुण ( Quality )” पर बेहतरीन अनमोल विचार दिए हुए हैं. इन विचारों को जरूर पढ़े और इनसे सीख ले और जीवन में सफलता प्राप्त करें.

Quality Quotes | क्वालिटी कोट्स

जो वीरता से भरा हुआ है, जिसका नाम लोग बड़े गौरव से लेते हैं, शत्रु भी जिसके गुणों की प्रशंसा करते हैं, वही पुरूष वास्तव में पुरूष है. – गणेश शंकर विद्यार्थी

जो मनुष्य अपनी उन्नति चाहता है, उसे चाहिए कि वह दूसरों के गुण देखने की आदत डालें और स्वयं पर लागू करे. – अज्ञात

गुणवान व्यक्ति दूसरे की गलतियों से अपनी गलती सुधारते हैं. – साइरस

गुण और ज्ञान पाने के पश्चात इस जगत में कोई भी झंझट शेष नहीं रह जाता. – ओशो

दान करके गुप्त रखना चाहिए, घर आये शत्रु का सत्कार करना चाहिए, परोपकार करके मौन रहना चाहिए, और दूसरों के उपकार को प्रकट करते रहना चाहिए. धन वैभव होने पर अभिमान नहीं करना चाहिए, पीठ पीछे निंदा नहीं करना चाहिए , अपना दोष बताये जाने पर क्रोधित नहीं होना चाहिए और उपकार करने वाले प्रति कृतज्ञ रहना चाहिए ये ऐसे सद्गुण है, जो साधारण पुरूष को महापुरूष बना देते हैं. – अज्ञात

गुणवान होने के लिए विनम्रता, जिज्ञासा और सेवा को अपने व्यवहार में सम्मिलित करना चाहिए. तब हमें अमिट ज्ञान की प्राप्ति होगी. – श्रीमदभगवद्गीता

गुण और ज्ञान वही सिद्ध हैं, जिससे मनुष्यता का भला होता हैं. – महात्मा गांधी

गुणवान के गुण के अलावा कुछ नहीं देखा जाता. – प्रेमचंद

गुण सब स्थानों पर अपना आदर करा लेता हैं. – कालिदास

किसी के गुणों को गाने में अपना समय नष्ट करने के बजाय उसे अपनाने में लगाओ. – कार्ल मार्क्स

गुणवान व्यक्ति की परीक्षा धन से नहीं सद्गुण और शीलता से होती हैं, जिस प्रकार घोड़ा अपनी साज-सज्जा से नहीं बल्कि ताकत और दौड़ने के गुण से जाना जाता हैं. – सुकरात

गुणवान से उसकी जाति नहीं पूछी जाती. – प्रेमचंद

गुरू के दुर्गुण त्यागो, शत्रु के गुण ग्रहण करो. – अज्ञात

गुण तो आदमी उसमें देखता हैं, जिसके साथ जन्म भर निर्वाह करना हो. – प्रेमचंद

मनुष्य गुणों से श्रेष्ठ बनता हैं, आसन पर बैठने से नहीं. महल के शिखर पर बैठने से कौआ गरूड़ नहीं बन जाता. – चाणक्य नीति

मानव जब तक तृष्णा से दूर हैं, गुणवान बना रहता हैं. – अज्ञात

मनुष्य सुसंगति में रहकर गुण पाता है तो अपने एक अवगुण से भी मुक्त हो जाता हैं. – एकनाथ

अपने अनुभवों से बड़ा गुण कोई नहीं. – अज्ञात

धन से सद्गुण नहीं उत्पन्न होते, लेकिन सद्गुणों से धन एवं दूसरी वस्तुएं प्राप्त होती हैं. – कन्फ्यूशियस

सुन्दरता बढ़ जाती है यदि आपमें गुण भी हों. – चाणक्य

संसार में अपने गुणों को, अपने पंखों को फ़ैलाना सीखो, क्योंकि दूसरों के गुणों से और पंखों से न विद्वता संभव है न उड़ान. – इकबाल

सद्गुण का पुरूस्कार सम्मान हैं. – सिसरो

समस्त गुण विनय की दास्तान कहते हैं. विनम्रता का जन्म नम्रता की कोख से होता हैं, अतः जो नम्र है, वही सद्गुण सम्पन्न है. – अज्ञात

यदि हम सद्गुण के उपदेशों को आचरण में लायें तो हमारे अंतर में छिपी अपार अध्यात्मिक शक्ति हमें प्राप्त हो जाएगी. – गुरूनानक

शिष्टाचार शारीरिक सुन्दरता के अभाव को पूर्ण कर देता हैं. शिष्टाचार के अभाव में सौन्दर्य का कोई मूल्य नहीं रहता. – स्वेट मार्डेन

सद्गुण ही ज्ञान हैं. – सुकरात

सज्जनों का स्वभाव गुणों को पास रखना हैं और दुर्जनों का स्वभाव अवगुणों को अपने पास रखना हैं. – भर्तहरि

अभिप्राय में उदारता, कार्य सम्पादन में मानवता, सफलता में संयम, इन्हीं तीन गुणों से मानव महान बन जाता हैं. – बिस्मार्क

संसार में आदरपूर्वक जीने का सरल और शर्तिया उपाय यह है कि हिम जो कुछ बाहर दिखना चाहते हैं, वैसे ही वास्तव में हों भी. – सुकरात

सज्जनों के मन घोड़े से गुणों के कारण फूलों की भांति ग्रहण करने योग्य हो जाते हैं. – बाण भट्ट