जीरो से हीरो बनने की कला

Inspiration for Students in Hindi

Inspiration for Students in Hindi – दुनिया का हर इंसान जन्म से लेकर मृत्यु तक कुछ न कुछ हमेशा सीखता रहता हैं. अच्छी सीख अच्छे परिणाम देते हैं और बुरी सीख बुरे परिणाम देते हैं. एक दिन सबको मिट्टी में मिल जाना हैं लेकिन उसके पहलें कुछ ऐसा कर जाओ कि तुम्हें पूरी दुनिया याद करें. याद रखना दोस्तों सबकों 24 घंटे ही मिलते हैं कोई अधिकारी, बिज़नसमैन, डॉक्टर, इंजिनियर, राजनेता आदि बन जाता हैं तो कोई पूरी जिंदगी अपना दुखड़ा रोता रह जाता है. इस शेर को हमेशा याद रखना –

हर पतंग को एक दिन कचरे के डिब्बे में जाना होता हैं,
लेकिन उसके पहले आसमान को छू कर दिखाना होता हैं.

हर इंसान को एक दिन मरना हैं लेकिन उसके पहले कुछ ऐसा कर जाओ कि तुम्हें खुद पर नाज हो, तुम्हारे परिवार को तुम पर नाज हो, पूरे समाज को तुम पर नाज हो, यूँ कहों कि पूरी दुनिया को नाज हो. जरूरी नहीं है कि आप बहुत पढ़े लिखे होंगे तभी कुछ कर सकते हैं बहुत लोग बिना पढ़े भी बहुत अच्छा और बड़ा काम करते हैं. ऐसे उदाहरण आप को अपने आस-पास मिल जायेंगे.

ख़ुद को ऐसे लोगो से दूर रखे

ऐसे लोगो से दूर रहे जो नकारात्मक सोचते हैं – अक्सर वो कहते है सब मोह माया है. क्या लेकर आये थे और क्या लेकर जाओगे. वो उदाहरण देंगे कि सिकन्दर भी जब इस दुनिया से गया तो खाली हाथ गया. उनसे आपको एक बात बोलना है कि भाई तू भी खाली हाथ जाएगा तो तू अपनी प्रॉपर्टी मेरे नाम कर दें. इसके बाद उसके पास उत्तर नहीं होगा.

ये सब कमजोर लोगो की शब्दावली हैं. जो ना तो कुछ करते हैं और ना दूसरों को करने देते हैं. ऐसे लोगों का साथ करों जिससे आप कुछ सीख सके, ज्ञान प्राप्त कर सके और सकारात्मक विचार प्राप्त कर सके.

एक बात हमेशा याद रखना – “फ़र्क ये नहीं पड़ता कि आप कितने सफ़ल है, फ़र्क ये पड़ता है कि आप जितने सफ़ल हो सकते थे उतने सफल है या नहीं.” आप 1000 तक पहुँच सकते थे लेकिन आप 50 पर पहुँच कर ही खुश हैं क्योंकि आप देख रहे है कि आपका प्रतिद्वंदी 10 पर ही हैं. तो आप बहुत बड़ी गलती कर रहें हैं. आपको और हमको सर्वश्रेष्ठ तक पहुँचने की कोशिश करनी चाहिए.

अपनी क्षमता का अधिकत्तम उपयोग कैसे करें

इंसान ही केवल एक ऐसा जीव है जो अपनी योग्यता और क्षमता का अधिक्तम प्रयोग नही कर पाता हैं. आपने सुना होगा कि जो सबसे बुद्धिमान लोग हुए हैं वो भी अपने दिमाग का लगभग 2% से 5% ही इस्तेमाल कर पाए हैं. ऐसा क्यों होता है कि इंसान अपने क्षमता का अधिकत्तम उपयोग नहीं कर पाता हैं. इसका बहुत ही आसान उत्तर हैं – “लक्ष्यहीन व्यक्ति अपनी क्षमता का अधिकत्तम उपयोग नहीं कर पाता हैं जबकि जिसका लक्ष्य निर्धारित होता है वह अपने क्षमता का अधिकत्तम उपयोग करता हैं.

कोई भी इंसान हो उसके जीवन में लक्ष्य महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. अगर आप अभी तक कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं किये है तो सर्वप्रथम लक्ष्य निर्धारित करें और प्रतिदिन थोड़ा ही सही प्रयास करते रहें. एक दिन आपके सपने जरूर साकार होंगे.

रूचिकर कार्य करें

कई बार हम कई चीजों में जबरजस्ती लगे रहते हैं या वो काम करते रहते हैं जिसमें हमारा मन और दिमाग बिल्कुल भी नहीं लगता हैं. हमेशा याद रखना – “अरूचिकर कार्य तभी रूचिकर लग सकता है जब आपको उससे पैसे मिल रहे हो और यह कुछ महीने या कुछ वर्षों तक ही रूचिकर लगेगा.

एक कहावत हैं – “मोची बनों लेकिन शहर का सबसे मशहूर मोची बनों” इसका मतलब ये है कि जो भी काम आप दिल लगाकर करेंगे उसे बेहतर और बेहतरीन तरीके से करेंगे. वहीं आपको मशहूर और सफलता की बुलंदियों पर बैठा देगा. रूचिकर कार्य करने के दो फायदें हैं एक आप खुश रहेगें और अपनी क्षमता का अधिकत्तम उपयोग कर ज्यादा से ज्यादा पैसा कमा सकेंगे. अपने दिल की सुने, अपने मन की सुने – “आपको आप से बेहतर कोई नहीं समझता हैं तो आप क्या कर सकते हैं और क्या नहीं कर सकते हैं. यह भी आपसे बेहतर कोई दूसरा नहीं समझ सकता