Imran Khan Biography in Hindi | इमरान खान के जीवनी

Imran Khan Biography in Hindi

Imran Khan Biography in Hindi Urdu ( Pakistan New PM, 27 July, 2018) – इमरान खान एक पाकिस्तानी क्रिकेटर थे जिन्होंने दो दशकों तक क्रिकेट खेला. 1990 के दशक के मध्य से राजनीतिज्ञ हो गये. ये राजनीति में आने के पहले कई सामजिक कार्य भी कर चुके है. इन्होने पाकिस्तना में कैंसर हॉस्पिटल ( Cancer Hospital ) बनवाया है. ये खिलाड़ी, राजनेता होने के साथ-साथ एक लेखक भी हैं.

अप्रैल 1996 में इमरान ख़ान ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ( Tehreek-e-Insaf – न्याय के लिए आंदोलन) नाम की एक छोटी और सीमांत राजनैतिक पार्टी की स्थापना की जो जुलाई 2018 में सत्ता में आई.

इमरान खान की शिक्षा, जन्म, जन्म स्थान और पारिवारिक जानकारी | Imran Khan’s Education, Early Life, Birth and Family

नाम – इमरान ख़ान नियाजी ( Imran Khan Niyaji )
निक नाम – इमरान
पेशा – क्रिकेटर, राजनेता, लेखक, सामजिक कार्यकर्ता
पार्टी – तहरीक-ए-इंसाफ ( Tehreek-e-Insaf )
जन्मतिथि – 05 अक्टूबर, 1952
जन्मस्थल – लाहौर, पकिस्तान
उम्र – 65 वर्ष (2018)
राष्ट्रीयता – पाकिस्तानी
स्कूल – रॉयल ग्रामर स्कूल, वोर्सस्टर इंग्लैंड, एथिसों कॉलेज लाहौर
कॉलेज – ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी इंग्लैंड
धर्म – इस्लाम
हॉबी – सामजिक कार्य करना
स्म्पतित – 38 Million (3 करोड़, 80 लाख )
माता का नाम – शौकत खानुम
पिता का नाम – इकरामुल्लाह खान निआजी (सिविल इंजीनियर)
बहन – अलीम खानुम, रानी खानुम, रूबीना खानुम, उज़मा खानुम
पत्नी – बुशरा मनिका, रहम खान, बुशरा मेनका
पुत्र – कासिम खान, सुलेमान इसा खान
पुरस्कार – Hilal-e-Imtiaz (1992), Pride of Performance (1983)

क्रिकेट इनफार्मेशन ( Cricket Information )

बैटिंग – राईट हैण्ड बैटस मैन ( Right Hand Batsmen – RHB )
बोलिंग – राईट आर्म फ़ास्ट (Right-arm Fast)
रोल – आल-राउंडर (All-rounder)

इमरान का जन्म पाकिस्तान के लाहौर शहर में हाउ इनके पिता इकरामुल्लाह खान नियाजी एक इंजीनियर थे. इमरान अपने युवावस्था में एक शांत और शर्मीले लड़के थे. एक मध्यम वर्गीय परिवार में अपनी चार बहनो के साथ पले-बढ़े. इनके पैत्रक पश्तून जाति के है जो कि नियाजी जनजाति से सम्बन्धित हैं.

इमरान खान की लव लाइफ और मैरिज लाइफ | Imran Khan’s Love Life and Marriage

  • इमरान की शादी 1995 में पारम्परिक इस्लामी समारोह में एक पत्रकार जेमिमा गोल्डस्मिथ से हुई, जेमिमा के पिता यहूदी है. शादी से पहले जेमिमा ने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया था. इनके दो पुत्र है सुलेमान और कासिम. पाकिस्तान में जेमिमा को पाकिस्तानी जीवन जीन में बहुत कठिनाई हुई और 9 वर्ष साथ रहने के बाद इन दोनों ने अलग होने का फ़ैसला लिया और जून 2004 में इनका तलाक हो गया और दोनों अलग हो गये.
  • जनवरी 2015 में इन्होने दुबारा शादी ब्रिटिश पाकिस्तानी तलाक शुदा महिला रहम खान से की. यह शादी इस्लामबाद में अपने घर में गुप्त तरीके से की, क्योकि इनका परिवार शादी के खिलाफ था. इनका रिश्ता ज्यादा दिन नहीं रहा और अक्टूबर 2015 में दोनों ने तलाक ले लिया.
  • 2018 में, इन्होने दुबारा बुशरा मनिका से शादी की.

Imran Khan’s Career | इमरान खान का करियर

 क्रिकेट करियर

  • इमरान ने सोलह साल की उम्र से ही क्रिकेट खेलना प्रारम्भ किया था, इन्होने ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की ब्लूज क्रिकेट टीम में अपनी जगह बने. इमरान ने 1971 में बर्मिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच ( Test Match ) खेला था. 3 साल बाद इंग्लैंड के खिलाफ़ वन डे मैच ( One Day Match ) में हिस्सा लिया. ये दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज मान जाते है. 1976 में ये पाकिस्तान लौट आये. 1976-1977 में इन्हें राष्ट्रीय टीम ( National Team ) की तरफ़ से खेलना शुरू किए.
  • 1982 में इन्होंने नौ टेस्ट में 13.29 रन पर 62 विकेट मिले, ये आल टाइम बालिंग रैंकिंग ( All Time Balling Ranking ) में तृतीय स्थान पर माने जाते है.
  • इन्होंने 75 टेस्ट मैच में 3,000 रन और 300 विकेट प्राप्त किये. इनका सबसे अधिक स्कोर 136 रन था. इन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 362 विकेट लिए और पाकिस्तान के पहले बॉलर और विश्व के चौथे बॉलर बने.
  • इन्होने 175 वन डे मैच खेले 33.41 के एवरेज से 3709 रन बनाये और इन्होने वन डे मैच में अधिक्तम 102 रन बनाये.
  • 30 साल की आयु में 1982 में इन्हें क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया बतौर कप्तान इन्होने 48 टेस्ट मैच खेले और 14 में जीत दर्ज की.
  • ख़ान ने इंग्लैंड के खिलाफ़ मेलबोर्न ऑस्ट्रेलिया में खेले गए अपने अंतिम ODI, 1992 विश्व कप के ऐतिहासिक फ़ाइनल के छह महीने बाद क्रिकेट से संन्यास ले लिया. 1992 में इमरान खान की कप्तानी में पाकिस्तान ने क्रिकेट का पहला वर्ल्डकप (First World Cup) जीता था.
  • कप्तानी दिनों को याद करते हुए इमरान खान कहते है कि – “जब मैं क्रिकेट टीम का कप्तान बना था, तो मैं इतना शर्मीला था कि सीधे टीम से बात नहीं कर सकता था। मुझे प्रबंधक से कहना पड़ता था, सुनिए क्या आप उनसे बात कर सकते हैं, यह बात है जो मैं उनसे व्यक्त करना चाहता हूं.”

राजनीतिक करियर

  • इमरान के क्रिकेट के साथ राजनीति में भी अपनी जगह बने, 1992 में ये क्रिकेट से राजनीति में आ गये. इन्होने 25 अप्रैल, 1996 में पाकिस्तान “तहरीक-ए-इंसाफ ( Tehreek-e-Insaf )” अर्थात न्याय के लिए इन्साफ नामक पार्टी बनाई.
  • ख़ान ने 1999 में जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ के सैन्य तख्ता-पलट का समर्थन किया, लेकिन 2002 के आम चुनावों से कुछ महीने पहले उनके राष्ट्रपति पद की भर्त्सना की.
  • इमरान पकिस्तान में प्रधानमंत्री पद के लिए प्रवल दावेदार माने जा रहे थे लेकिन इन्हें सफ़लता प्राप्त नहीं हुई और इनकी पार्टी दुसरे स्थान पर रही.
  • ये 4 जगह से चुनाव में खड़े हुए जिसमें से 3 जगह से तो ये जीत गये लेकिन चौथी जगह थी लाहौर जहाँ से ये हार गये.
  • अक्टूबर 2002 में ये चुनाव में खड़े हुए और मियावली से संसद सदस्य बने.
  • 22 वर्षो के बाद इमरान खान की पार्टी ने जुलाई 2018 में एक बड़ी जीत हासिल की हैं. तहरीक़-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) के नेता इमरान ख़ान का प्रधानमंत्री बनना तय हो गया है.

पुरस्कार एवं सम्मान | Awards and Achivment

  • 1992 मेंइमरान खान के कंधे में चोट लगने से तकलीफ़ थी इसके बावजूद विश्व कप जीतने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.
  • आल-राउंडर ट्रिपल में ये तीसरें स्थान पर है जिसमें इन्होने तीन हजार रन और तीन सौ विकेट शामिल है.
  • 1976 और 1980 में इन्हें क्रिकेट में आल-राउंडर होने के लिए “द क्रिकेट सोसाइटी वेदरहेल अवार्ड” से सम्मानित किया गया था. 1985 में इन्हें “संसेक्स क्रिकेट सोसाइटी” द्वारा प्लेयर ऑफ़ द इयर ( Player of The Year ) का अवार्ड दिया गया.
  • 2004 में इन्हें अच्चा कार्य करने और दान के कार्य करने के लिए लन्दन में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड ( Lifetime Achievement Award ) देकर सम्मान दिया गया. इन्हें देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “हिलाल-ए-इम्तियाज ( Hilal-e-Imtiaz )” भी मिला हैं.
  • इन्होने पाकिस्तान में पहल कैंसर हॉस्पिटल ( Cancer Hospital ) बनाया जिसके लिए इन्हें 2007 में मानवतावादी पुरुस्कार मिला.
  • 2012 में इन्हें मैन ऑफ़ द इयर ( Man of The Year ) घोषित किया गया और ग्लोबल पोस्ट के द्वारा शीर्ष नेताओ की सूची में तीसरे स्थान पर रखा गया.

Imran Khan’s Book | इमरान खान की किताबें

1983 : द ऑटोबायोग्राफी ऑफ़ इमरान खान ( The Autobiography of Imraan Khan )
1989 : इमरान खान क्रिकेट स्किल्स ( Imran Khan’s Cricket Skills )
1991 : इंडस जर्नी : ए पर्सनल व्यू ऑफ़ पाकिस्तान ( Indus Journey: A Personal View of pakistan )
1992 : आल राउंड व्यू ( All Round View )
1993 : वारियर रेस : अ जर्नी थ्रू द लैंड ऑफ़ द ट्राइबल पठानस ( Warrior Race: A Journey Through the Land of the Tribal Pathans )
2011 : पकिस्तान : ए पर्सनल हिस्ट्री ( Pakistan: A Personal History )

इमरान खान के बारें कुछ अन्य बातें | Some Other Information About Imran Khan

  • इमरान खान के माँ की मृत्यु कैंसर के कारण हुआ था क्योंकि पाकिस्तन में कैंसर को कोई अच्छा अस्पताल नहीं था इसलिए इमरान ने पाकिस्तान के लाहौर में “शौकत खानुम मेमोरियल हॉस्पिटल” की स्थापना की.
  • राजनीतिक विचारधारा अलग-अलग होने के कारण इमरान खान का इनकी पत्नी से तलाक हुआ.
  • इमरान खान और सरफराज नवाज की जोड़ी को पाकिस्तानी क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ जोड़ी माना जाता हैं.
  • 2012 में इन्हें 88% वोट से एशिया के “पर्सन ऑफ़ द इयर” के ख़िताब से नवाजा गया. ग्लोबल पोस्ट के अनुसार दुनिया के 9 शीर्ष नेताओं में से ये तीसरे स्थान पर थे.
  • इमरान खान के क्रिकेट विचार ब्रिटिश, एशिया और भारत की पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए.
  • 3 नवंबर, 2007 को राष्ट्रपति मुशर्रफ़ द्वारा पाकिस्तान में आपातकाल घोषित किये जाने के कुछ घंटों बाद, ख़ान को उनके पिता के घर में नज़रबंद कर दिया गया. आपातकालीन शासन लगाने के बाद ख़ान ने मुशर्रफ़ के लिए मृत्यु दंड की मांग की, जिसे उन्होंने “देशद्रोह” के समकक्ष रखा.

इमरान खान से सम्बंधित विवाद | Controversy related to Imran Khan

  • इमरान का क्रिकेट करियर कई विवादों से घिरा रहा है, इनपर मैदान में बॉल से छेड़छाड़ करें के आरोप लगे. 1981 में एक मैच के दौरान बॉल को बोतल के ढक्कन से खुरचने के कारण इनपर मुकदमा दायर हुआ था लेकिन जीत इन्हीं की हुई.
  • इमरान खान जब क्रिकेट खेलते थे तब उन्हें प्लेबॉय कहा जाता था इन्होने ब्रिटिश अरबपति जेम्स गोल्डस्मिथ की बेटी जमीमा से निकाह किया और फिर इनका तलाक हो गया इसके बाद इन्होने रहम खान से शादी की और दस महीने में तलक ले लिया. इमरान खान की शादियाँ और तलाक हमेशा सुर्ख़ियों में रहीं हैं.