Father Shayari | फादर शायरी | पिता शायरी

Father Shayari

Father Shayari in Hindi ( Pita, Dad, Papa Shayari ) – बच्चों के लिए पिता का प्रेम थोड़ा अलग होता हैं, जरूरत पड़ने पर दुलारते, फटकारते हैं, मारते हैं पर हर हाल में अपने बच्चों की तरक्की चाहते हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन फादर शायरी ( Father Shayari ), Pita Shayari ( पिता शायरी ), Dad Shayari ( डैड शायरी ), Papa Shayari ( पापा शायरी ), Abba Shayari ( अब्बा शायरी ) आदि दिए हुए हैं. इन्हें जरूर पढ़े.

Father Shayari | फादर शायरी | Pita Shayari | पिता शायरी

बचपन की हर मुसीबत में पिता याद आते हैं,
बुढ़ापे में क्यों बेटे पिता को भूल जाते हैं.


जिस घर में माँ-बाप हँसते हैं,
प्रभु तो स्वयं ही उस घर में बसते है.


दिल की दर्द छुपाकर मुस्कुराते है पापा,
कंधे पर उठाकर दुनिया दिखाते है पापा,
ना जाने कैसे मेरे कुछ कहें बिना ही
मेरे दिल की बात जान जाते हैं पापा.


Father Shayari in Hindi
Father Shayari in Hindi

पिता से ही बच्चों के ढेर सारे सपने हैं,
पिता है तो बाजार के सब खिलौने अपने हैं.


मुझे छाँव में रखा और खुद
जलता रहा धूप में,
मैंने देखा है एक फ़रिश्ता
मेरे पिता के रूप में.


पिता एक पैर पर दौड़ता है किस के लिए,
अपने बच्चों को उनके पैरों पर खड़ा करने के लिए.


Pita Shayari in Hindi | पिता शायरी

पिता अपने सीने पर हर वार झेल लेता हैं,
पर अपने बच्चों पर एक खरोच नहीं आने देता हैं.


करो दिल से सजदा तो इबादत बनेगी,
माँ-बाप की सेवा अमानत बनेगी,
खुलेगा जब तम्हारी गुनाहों का खाता
तो माँ-बाप की सेवा जमानत बनेगी.


Papa Shayari
Papa Shayari

पिता की नजरें थोड़ी शक्की होती हैं,
पर उनके गुस्से में बेटे की तरक्की होती हैं.


खून का भी एक रंग होता हैं,
पुत्र पिता का अंग होता हैं.


एक पिता बनना आसान हैं,
पिता का फर्ज निभाना मुश्किल.


Dad Shayari in Hindi | डैड शायरी

जब भी मेरे आस-पास थकान नजर आती है,
तो काम करते मेरे पिता की तस्वीर दिखाती हैं.


Papa shayari in Hindi
Papa shayari in Hindi

अपने पति में पिता के गुण ढूँढती हैं,
पिता की कीमत सिर्फ़ बेटियाँ समझती हैं.


भले ही पिता का स्वभाव कड़ा होता हैं,
पर बच्चों पर उनका एहसान बड़ा होता हैं.


सूरज और पिता का स्वभाव और गुण एक समान होता हैं,
गरम जरूर होते हैं पर न हो तो अंधियारा छा जाता हैं.


बहुत मुश्किल है दुनिया में ये दो चीजें जान पाना,
माँ की ममता और पिता की क्षमता का अंदाजा लगा पाना.


Dad Shayari in Hindi
Dad Shayari in Hindi

Papa Shayari in Hindi | पापा शायरी

बेटे होने का फ़र्ज कभी तुम भी निभाना,
जब पिता “ना” कहे तो उनकी मजबूरी समझ जाना.


काश बेटे भी पिता के जज्बात समझ जाते,
बुढ़ापे में उनके हाथो की लाठी बन जाते.


Pita Shayari in Hindi
Pita Shayari in Hindi

रूठो बेशक पर मान जाओ,
पापा तो पापा होते है, ये बात जान जाओ.


बाप बेटे में अक्सर होती हैं बात,
पर बेटे नहीं समझ पाते पिता के दिल के जज्बात.


वहीं श्रवण कुमार बन पायेंगें,
जो पिता के एहसानों का कर्ज चुकायेंगे.


पिता बनना पड़ता है
पिता के जज्बात समझने के लिए,


ऊँगली पकड़ कर चलाते हैं पापा,
गिरने पर उठने का साहस बढ़ाते है पापा.


इसे भी पढ़े –