भूमि पूजन शायरी स्टेटस | Bhoomi Pujan Shayari Status in Hindi

Bhoomi Pujan Shayari

Bhoomi Pujan Shayari Status Quotes in Hindi – इस आर्टिकल में भूमि, भूमिपूजन, मातृभूमि शायरी स्टेटस कोट्स दिए हुए हैं. जरूर पढ़े.

भूमि को धरती, जमीन, मार्तिभूमि आदि नामों से सम्बोधित करते है. ये भूमि कहीं खेत बनकर हमारे भूख को मिटाने के लिए अन्न देती है. जब पेड़ उगते है तो फल देते है. इसी भूमि से ही विभिन्न प्रकार के खनिज पदार्थ निकलते है जिससे रहने के लिए एक मजबूत घर बनाते है. धरती अपने गर्भ में स्वच्छ और स्वादिष्ट जीवन दायिनी जल देती है. ऐसी भूमि प्रतिदिन पूजने योग्य है.

भूमि पूजन का विधान हमारे शास्त्रों में दिया हुआ है. इससे दोष खत्म हो जाते है और निर्माण कार्य सुचारू रूप से होता है. भूमि पूजन से सकारात्मकता आती है. घर और घर के चारों तरफ ऊर्जा ही ऊर्जा होता है. कई बार जब कोई व्यक्ति भूमि खरीदता है तो हो सकता है उस जमीन के पुराने मालिक के गलत कृत्यों से भूमि अपवित्र हुई हो इसलिए भूमि पूजन द्वारा इसे फिर से पवित्र किया जाता है.

राम जन्म भूमि पूजन शायरी

मंदिर मेरे राम का बनने को तैयार,
भूमि पूजन संग धरें राम-राज आधार,
सदियों का संघर्ष था दिया बहुत बलिदान,
बीस पीढ़ियों बाद है आया दिवस महान.


नदी का पूजन करोगे तो वह जल देगी,
भूमि पूजन करोगे तो वह अन्न और घर देगी.


भूमि पूजन शायरी | Bhoomi Pujan Shayari

जगत की जननी इस धरती को माँ कहते है,
इसलिए घर बनाने से पहले भूमि पूजन करते है.


भूमि पूजन के लिए सजा लो पूजा की थाली,
हर मनोकामना पूर्ण होगी, नहीं जायेगी कोई खाली.


भूमि पूजन से धरती माँ हर प्रकार के दोष पर
गलतियों को माफ़ कर अपनी कृपा बरसाती है.


मातृभूमि शायरी

जो मातृभूमि की जय कहते सकुचाते है,
मजहब को मुल्क से ऊपर बतलाते है,
नमक देश का खाते दुश्मन गुण गाते है,
ऐसे गद्दारों पे कुत्ते भी तो शरमाते है.


मुझे तन चाहिए न धन चाहिए,
बस अमन से भरा ये वतन चाहिए,
जब तक जिन्दा रहूँ इस मातृभूमि के लिए
और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिए.


कर्म भूमि की दुनिया में श्रम सभी को करना पड़ता है,
भगवान सिर्फ लकीरें देता है, रंग हमे ही भरना पड़ता है.


इसे भी पढ़े –