Ambition Quotes | महत्वाकांक्षा पर अनमोल विचार

Ambition Quotes in Hindi

Ambition Quotes in Hindi – मनुष्य का जैसे-जैसे बौद्धिक विकास होता हैं, वैसे-वैसे सोचने और समझने की क्षमता भी बढ़ने लगती हैं. जब हमारे अंदर किसी उद्देश्य या लक्ष्य को प्राप्त करने की प्रबल इच्छा जागृति होती हैं तो उसे महत्वाकांक्षा कहते हैं. जब एक बुद्धिमान व्यक्ति महत्वाकांक्षी होता है तो वह बड़े से बड़ा लक्ष्य आसनी से प्राप्त कर लेता हैं.

Best and New Ambition Quotes | बेहतरीन और नये महत्वाकांक्षा पर अनमोल विचार

महत्वाकांक्षा मानव हृदय की इतनी शक्तिशाली अभिलाषा है कि हम कितने ही ऊँचे पद पर पहुँच जाए, पर संतुष्ट नहीं होते.

दुनिया में अधिक्तर लोग महत्वाकांक्षी होते हैं पर उस महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए कठिन परिश्रम बहुत कम लोग करते हैं.

आलस्य के होने से महत्वाकांक्षा की मृत्यु हो जाती हैं.

महत्वाकांक्षा के दाँव पर मनुष्यता सदैव हारी हैं.

महत्वाकांक्षा का सही उपयोग केवल बुद्धिमान लोग ही करते हैं.

महत्वाकांक्षा वो नहीं है जो इंसान करना चाहता हैं, बल्कि वो है जो इन्सान करता है, क्योकि बिना कर्म के महत्वाकांक्षा बस एक कल्पना हैं.

जीवन में सफ़ल होने के लिए उन लोगों से दूर रहें जो आपकी महत्वाकांक्षाओं को तुच्छ बनाने का प्रयास करते हैं.

बिना महत्वाकांक्षा के एक नवयुवक बस एक वृद्ध व्यक्ति बनने के इंतज़ार में हैं.

हुनर तो सबमें होता हैं फ़र्क सिर्फ़ इतना हैं किसी का छिप जाता हैं किसी का छप जाता हैं.

संसार में जितने बड़े काम हुए हैं उन सबको कराने वाली महत्वाकांक्षा ही हैं.

मेरी महत्वाकांक्षा सिर्फ़ ये नहीं थी कि मैं उतना आगे जाऊं जितना कोई और मनुष्य गया हो, बल्कि इतना आगे जाऊं जितना किसी मनुष्य के लिए जाना संभव हो.

महान महत्वाकांक्षा महान चरित्र की अभिलाषा होती है, जिनके पास ये होती हैं वो बहुत अच्छे या बहुत बुरे काम कर सकते हैं.

मेरी एक बहुत बड़ी महत्वाकांक्षा है कि मैं थकावट से मरूँ ना कि आलस्य से.

जब महत्वाकांक्षा खत्म होती हैं तो प्रसन्नता शुरू होती हैं.

महत्वाकांक्षी व्यक्ति तब सफल होते हैं जब उसके सोच और कार्य में समानता होती हैं.

जब व्यक्ति महत्वाकांक्षा से भरा होता है तब वह अपने लक्ष्य तक पहुँचने के लिए हर संभव प्रयास करता हैं और उसे प्राप्त करता हैं.

महत्वाकांक्षा के बिना बुद्धिमत्ता, पंख के बिना चिड़िया के समान है.

कम हो या ज्यादा हो, हर व्यक्ति महत्वाकांक्षी होता हैं.

प्रबल इच्छाएँ महत्वाकांक्षा का रूप ले लेती हैं और इसके परिणाम हमारी अच्छी-बुरी सोच पर निर्भर करती हैं.

महत्वाकांक्षा का जन्म ईश्वर की कृपा से होता हैं. महत्वाकांक्षी होने के बावजूद सफल न हो पाना हमारी कमियों को दर्शाता हैं.

महत्वाकांक्षा और कठोर परिश्रम चमत्कारिक परिणाम देते हैं.

महत्वाकांक्षा का एक पैर सदैव नर्क में रहता हैं.

महत्वाकांक्षी व्यक्ति के लिए प्रसिद्धि ऐसे होता हैं जैसे प्यासे के खारें पानी पीने के समान – जितना ही वह पीता है उतनी ही प्यास बढ़ती हैं.

संसार का सबसे बड़ा शत्रु हैं – महत्वाकांक्षा.

महत्वाकांक्षा का मोती निष्ठुरता की सीपी में पलता हैं.

महत्वाकांक्षा धोखे की चीज है, वह आदमी को असामाजिक बनने तक ले जा सकती हैं.

इसे भी पढ़े –