अपने मन को कैसे जीते | Apane Man Ko Kaise Jeete

अपने मन को कैसे जीते | Apane Man Ko Kaise Jeete – जीवन में सफलता और प्रगति के लिए मन का नियंत्रित होना आवश्यक है. बहुत लोगो को लगता है कि मन को जीतना या मन को नियंत्रित करना बहुत ही कठिन कार्य है. लेकिन ऐसा नहीं है. अगर आपके मन में चाह है तो राह भी है. हम जो कुछ देखते है, जो कुछ सुनते है और जो कुछ बोलते है. उसका सीधा असर हमारे मन पर होता है. हमारे आस-पास के लोग जैसे होंगे हम वैसे ही बन जाते है.

मन को नियंत्रित करने के लिए आपके विचारों का सकारात्मक होना जरूरी है. जब आप के विचार सकारात्मक होते है तो आपकी आध्यात्मिक रुचि बढ़ जाती है. इससे मन शांत और प्रसन्न होने लगता है. ऐसा होने पर हम अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्र हो जाते है. आइये जाने कि कैसे मन के विचारों को सकारात्मक बनाया जाए.

महात्मा गांधी द्वारा दिए मन्त्र से मन को जीते

मन को कैसे जीते
मन को कैसे जीते | Man Ko Kaise Jeete

आपने महात्मा गांधी के तीन बंदर को देखा होगा या उसके बारें में सुना होगा। एक बंदर अपनी आँख बंद करके बैठा है. दूसरा बंदर अपनी मुंह बंद करके बैठा है और तीसरा बंदर अपनी कान बंद करके बैठा है. जिसका मतलब होता है कि किसी की बुराई मत देखो, किसी की बुराई मत सुनो और किसी की बुराई मत कहो.

इसका प्रयोग खुद पर करें

आप एक सप्ताह के लिए किसी की बुराई न कहें और कोई अपशब्द मुंह से न निकाले। इसके साथ ही साथ ऐसे लोगो से दूरी बनाएं तो किसी की बुराई करते हो. यानि आप किसी की बुराई न सुने और किसी की बुराई न देखे और अश्लील-बेवजह की फ़िल्में न देखे। एक सप्ताह आप एक कमरे में रहे और अच्छी किताबे, अच्छे ब्लॉग या अपने लक्ष्य से सम्बंधित सामग्री को पढ़े.

- Advertisement -

आप इस सात दिन में यह सोचे कि आप कितनी मेहनत करके, कैसे अपने लक्ष्य तक पहुंचेंगे। कैसे जीवन में सफलता प्राप्त करेंगे। कैसे आप खुद को प्रसन्न रखेंगे। आप को सवाल भी खुद से करना होगा और आपको जवाब भी खुद देना होगा। अगर आप अपने उत्तर से संतुष्ट नहीं है तो आप ऑनलाइन उन प्रश्नो का उत्तर ढूंढें। यकीन मानिये यह सात दिन आपके लिए चमत्कार साबित होगा। आप अपनी कमियों को लिखिए। उन्हें दूर करने का प्रयास करिये। आप सोचिये आपको ईश्वर ने इस धरती पर क्यों भेजा है? क्या सिर्फ पैसा कमाना ही मानव का लक्ष्य है?

एक सप्ताह में मन वश में नहीं होगा लेकिन आप धीरे-धीरे जा इसे अपनी आदत बना लेंगे तो एक दिन ऐसा आएगा जब आप अपने मन को जीत लेंगे। मन आपके नियंत्रण में होगा। मन को जीतने के लिए बड़े धैर्य की आवश्यकता होती है. इसलिए स्वयं पर आत्मविश्वास बनाये रखे कि एक दिन इस दुनिया में आप चमत्कार कर देंगे। आपके अंदर ईश्वर रहता है. उसमें बड़ी ताकत होती है वो कुछ भी कर सकता है.

मन को जीतने के लिए कृष्ण ने अर्जुन से क्या कहा

एक बार अर्जुन ने भगवान श्रीकृष्ण से प्रश्न किया कि मन तो वायु के समान चंचल है इसे कैसे वश में किया जा सकता है.

तब भगवान श्रीकृष्ण ने मुस्कुराकर कहा – हे अर्जुन माना मन वायु केसमान चंचल है परन्तु अभ्यास और वैराग्य से इसे वश में किया जा सकता है. मन पर जीत प्राप्त की जा सकती है. जो व्यक्ति सतत अभ्यास करता है वह अपने अंदर के काम, क्रोध, घृणा, ईर्ष्या, लोभ, मोह को धीरे-धीरे समाप्त करके वह मन पर विजय प्राप्त कर लेता है.

मन को पवित्र और अच्छे विचारों और चिंतन में लगाएं। मनुष्य का अपने सभी इन्द्रियों पर संयम आवश्यक है. अगर दूषित दृश्य देखेंगे और दूषित वार्ता सुनेंगे तो मन दूषित हो जाएगा। अच्छे वातावरण में रहने का प्रयास करें। ईमानदारी और परिश्रम से धन अर्जित करें और सात्विक भोजन ग्रहण करें।

मन को जीतने की अन्य उपाय

मन को जीतने या नियंत्रित करने के नीचे दिए गए उपाय मेरे स्वयं के अनुभव पर आधारित है. अगर इंसान दृढ़ संकल्प कर ले तो वह किसी स्थान पर रहकर कुछ भी कर सकता है. जीवन में कुछ भी हो जाएँ अपने आत्मविश्वास को काम ना होने दें.

  • जब एक व्यक्ति अपने परिवार के बीच में रहता है तब वह कोई अपशब्द नहीं कहता है. इससे जिभ्वा नियंत्रित रहती है. कोई दूषित चित्र या चलचित्र नहीं देखता है जिससे मन पवित्र रहता है. परिवार में व्यक्ति अनुशासन में रहता है. जिसका मन बहुत ज्यादा चंचल हो उसे अपने परिवार (माता-पिता) के साथ रहना चाहिए।
  • निरंतर दान देने से मन का लालच समाप्त हो जाता है. इसलिए जो व्यक्ति अपने मन को वश में करना चाहता है उसे दान अवश्य देना चाहिए। अगर पैसे ना हो तो दूसरों की मदत किसी अन्य प्रकार से करनी चाहिए।
  • प्रकृति से जुड़े इससे मन को असीम शांति और सुकून मिलता है, मन का शांति और सुकून मन को नियंत्रित करता है.

मन को जीतने या नियंत्रित करने का क्या लाभ है?

जब आपका मन आपके नियंत्रण में होगा तब आप जितना सोचेंगे उतना जरूर करेंगे। फिजूल सोचकर आप खुद को परेशान नहीं करेंगे। सफलता आपको छोटी लगने लगेगी। आपके जीवन में भटकाव समाप्त हो जाएगा। आप अपने लक्ष्य के प्रति अग्रसर हो जाएंगे। जब आप मन पर विजय प्राप्त कर लेंगे तो अपने आस-पास ईश्वर को अनुभव करेंगे। पेड़-पौधों और पशु पक्षी में आप ईश्वर अनुभव करेंगे। इससे आपके मन में हमेशा सकारात्मक विचार आएंगे। कठिन से कठिन परिस्थिति में आप विचलित नहीं होंगे। बड़े से बड़ा लक्ष्य आपको छोटा लगेगा। मन को जीतने या नियंत्रित करने के अनेको-अनेक लाभ है.

इसे भी पढ़े –

Latest Articles