What is Life? | जीवन क्या हैं?

Motivational Happy Child

What is Life? (जीवन क्या हैं?) – इस पूरे पोस्ट में यही बताया गया हैं कि “अपने जीवन के सारे कार्य ख़ुश होकर करे और जीवन के हर पहलू को महत्व दे” बदलाव हमारी ज़िन्दगी का एक अभिन्न हिस्सा हैं और इसी बदलाव का पार्ट हैं सुख-दुःख, हार-जीत, सफलता-असफलता यह सब एक सिक्के के दो पहलू हैं यदि दुःख होगा तो सुख भी होगा. यदि जीवन में सफलता हैं तो असफ़लता भी हो सकती हैं. यदि हम व्यवहारिक जीवन की बात करे तो इंसान सबसे अधिक अपने बुरे समय में सीखता हैं. किसी महान व्यक्ति ने कहा हैं कि “दुःख में ही सुख हैं और सुख में ही दुःख हैं“. स्टूडेंट लाइफ में सही मोटिवेशन होना बहुत जरूरी हैं यदि आप एक स्टूडेंट हैं तो आप इस पोस्ट को जरूर पढ़े.

जीवन क्या हैं (What is Life?)

जीवन एक एहसास हैं आप जो पूरे जीवन में महसूस करते हैं वही जीवन हैं“.

आप अपने जीवन में कितने अमीर है या कितने गरीब हैं इसका सुख और दुःख से कोई लेना देना नही हैं. यदि आप एक अच्छे व्यक्ति (ईमानदार व्यक्ति) नही हैं तो आप सुखी नही हो सकते हैं. आपका स्वास्थ अच्छा नही है तो आप सुखी नही हो सकते हैं. यदि आप शिक्षित, समझदार या एक सभ्य व्यक्ति नही हैं तो आप खुश नही हो सकते हैं . वर्तमान समय में हर व्यक्ति धन का होना सुख का होना मानता हैं लेकिन यथार्थ में यह सत्य नही हैं क्योकि मुस्कुराते तो गरीब भी हैं.

हमें ख़ुशिय छोटे-छोटे कामो को करने से मिलती हैं, खुशी दूसरो को खुश करने में मिलती हैं. हमारे जीवन का हर कार्य ख़ुद और अपने से सम्बंधित लोगो को ख़ुश करना ही होता हैं. यदि जीवन को परिभाषित करे तो “ख़ुश रहना, ख़ुशी देना और ख़ुशी लेना ही जीवन हैं“.

जीवन बुनियादी बातें (Life Fundamentals)

एक व्यक्ति को अपने जीवन में चार चीजों की आवश्यकता ख़ुशहाल जीवन जीने के लिए होती हैं.

  1. मान और सम्मान – समाज और अपने प्रियजनों से सम्मान पाना सबकी ख्वाहिश होती हैं और अधिकतर लोगो को मिलता भी हैं यदि आप का व्यवहार और आचरण अच्छा हैं तो निश्चित रूप से आपको समाज में सम्मान मिलेगा.
  2. स्वास्थ – यदि आपको दुनिया की सारी खुशियां दे दी जाय और आप स्वस्थ नही हैं तो सब बेकार हैं इसलिए स्वस्थ होना बहुत जरूरी हैं. यदि आप कभी बीमार पड़े हो तो आप महसूस कर सकते हैं कि स्वस्थ रहना कितना जरूरी हैं.
  3. शिक्षा – आपको उचित शिक्षा जरूर लेनी चाहिए जिससे आपकी जीविका चले और आप एक शिक्षित, समझदार व्यक्ति की तरह उच्च जीवन जिए.
  4. धन – धन न तो बहुत अधिक और न ही बहुत कम हो. इतना होना चाहिए की आपकी आवश्यकता पूरी हो जाय.

यदि आप ऊपर के चार इन पॉइंट्स को देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि इसमें से सारी चीज़े आपके पास हैं पर हम इनको उतनी अहमियत नही देते हैं और उन चीजों के लिए परेशान हैं जो वास्तव में आपको क्षणिक सुख देने वाले होते हैं.

उदारहण 1 – मान लो – आपको बहुत सारा पैसा दे दिया जाय पर आपके घर वाले, आपके दोस्त आपसे बात न करे तो सारा पैसा आपके लिए बेकार होगा. आप खुश नही हो सकते परन्तु यदि आपके साथ आपके घर वाले हो या दोस्त हो आप गरीब होते हुए भी खुश होंगे. ख़ुशी एक ऐसी चीज हैं जिससे पैसे से कोई लेना देना नही हैं.
उदाहरण 2 – आपको बहुत सारा पैसे दे दिया जाय पर आप स्वस्थ न हो तो आपके लिए वह सारा पैसा बेकार होगा. जब हम बीमार पड़ते हैं या हॉस्पिटल में जाते हैं तो ऐसा ही अनुभव करते हैं.
उदारहण 3 – शिक्षा के बिना जीवन में सब कुछ होते हुए भी कुछ नही होता हैं. स्कूली ज्ञान के साथ-साथ व्यवहारिक ज्ञान का होना भी जरूरी हैं.
उदारहण 4 – चौथे स्थान पर धन आता हैं यदि आप के पास ऊपर के तीन गुण हैं तो आप निश्चित रूप से धनी होंगे. धन के लिए मेहनत करे, शिक्षा ग्रहण करे और उच्च व्यवहार रखे. सफलता आपकी कदम चूमेगी.

जीवन को सुखमय कैसे बनाये (How to make Life Happy)

जीवन का कोई ऐसा जादुई मन्त्र नही हैं कि आपको ख़ुश कर दे. यदि आप के जीवन में ख़ुशी का पल आएगा तो आप अपने आप ख़ुश हो जायेंगे और जब दुःख होगा तो दुखी हो जायेंगे यह सबके जीवन में होता हैं.

ऊपर के दिये चार विन्दु आपके जीवन में होना बहुत जरूरी हैं सम्मान, स्वास्थ, शिक्षा और धन यदि धन थोड़ा कम भी हो तब भी आप ख़ुश ही रहेंगे. नीचे मै कुछ पॉइंट लिख रहा हूँ जो आपको खुश भी रखेगा और आपके जीवन में लक्ष्य को प्राप्त करने में मदत भी करेगा.

  1. सुबह या शाम में योग या व्यायाम जरूर करे.
  2. अपने समय का सदुपयोग करे. समय को व्यर्थ वार्तालाप या आलस्य के कारण सो कर न गुजारे.
  3. सबका सम्मान करे और सच बोले.
  4. लक्ष्य प्राप्त करने के लिए सही दिनचर्या बनाये. सफलता और असफलता आपकी जिम्मेदारी हैं, सफलता का श्रेय खुद को और असफलता का श्रेय दूसरो को न दे. असफ़लता हमेशा अपनी गलतियों के कारण मिलती हैं और सफलता दूसरो के सहयोग से मिलता हैं.
  5. हर दिन कुछ नया सीखने, पढ़ने का प्रयत्न करे.
  6. ख़ुश रहे और सकारात्मक सोचे.
  7. लक्ष्य प्राप्ति के लिए समय निर्धारित करे.
  8. जिस काम को करने से आपको ख़ुशी मिलती हो उसे जरूर करे.
  9. माता-पिता और बुजुर्गो का सम्मान करे.
  10. पढ़ाई (किसी भी कार्य) को अधिक समय तक करना उसे अरुचिकर बना देता हैं इससे बचे.

बहुत से और भी ऐसे पॉइंट होंगे जो आपको ख़ुश रखे और आपके लक्ष्य को पाने में मदत करे. जीवन में हर व्यक्ति कुछ न कुछ हमेशा सीखता हैं और गलतियाँ भी करता हैं. अंतिम तीन शब्द “स्वस्थ रहे, मस्त रहे और व्यस्त रहे.