बुद्धि का वास्तविक अर्थ | Intelligence Meaning in Hindi

Intelligence Meaning in Hindi

Meaning of Intelligence in Hindi – क्या आप बुद्धि का सही मतलब जानते हैं? बुद्धि की विशेषता क्या हैं? और बुद्धि कितने प्रकार के होते हैं? इसकी क्या परिभाषा हैं? इन सभी प्रश्नों के उत्तर के लिए इस पोस्ट को जरूर पढ़े.

बुद्धि का वास्तविक अर्थ | Real Meaning of Intelligence

यद्यपि प्रत्यक्ष रूप में बुद्धि की उपर्युक्त परिभाषाओं में विभिन्नता है, पर वास्तव में उनमे विभिन्नता के बजाय समानता अधिक है. इसका कारण यह है कि यदि किसी व्यक्ति में छः कार्यों में से किसी एक कार्य को करने की योग्यता है, तो उसमें अन्य कार्यों को करने की योग्यता होती है. मनोवैज्ञानिकों का मत है – “बुद्धि व्यक्ति की जन्मजात शक्ति है और उसकी सब मानसिक योग्यताओं का योग एवं अभिन्न अंग है.” आधुनिक शिक्षा जगत “बुद्धि” का यही अर्थ सर्वमान्य है. इसकी पुष्टि में दो परिभाषाएं प्रस्तुत की जा रही है.

कोलेसनिक के अनुसार – “बुद्धि कोई शक्ति या क्षमता या योग्यता नहीं है, जो सब परिस्थितियों में समान रूप से कार्य करती है, वरन अनेक विभिन्न योग्यताओं का योग हैं.

रैक्स के अनुसार – “बुद्धि वह तत्व है, जो सब मानसिक योग्यताओं में सामान्य रूप से सम्मिलित रहता है. यह परिभाषा इस शताब्दी की एक सबसे महत्वपूर्ण मनोवैज्ञानिक खोज का प्रतिष्ठापन करती हैं.

बुद्धि के विषय में अब एक नया मत यह विकसित हो रहा है कि बुद्धि नामक कोई भी तथ्य नहीं है. प्रत्येक व्यक्ति की अपनी क्षमता होती है. किसी कार्य को करने की क्षमता को भिन्नता ही विभेद करती है. एक व्यक्ति, एक क्षेत्र में अपनी योग्यता तथा क्षमता का लाभ उठाता है तो दूसरा व्यक्ति दूसरे क्षेत्र में लाभ उठाता हैं. स्टोडर्ड ने इसलिए बुद्धि के अस्तित्व को स्वीकार करते हुए कहा है – बुद्धि वह योग्यता है जिसमें कठिनाई, जटिलता, अमूर्तता, मितव्ययिता, उद्देश्य के प्रति अनुकूलता, सामजिक मूल्य, मौलिकता की आवश्यकताओं की विशेषताएं हों तथा भावात्मक व्यक्तियों के प्रति सहनशील हो.

बुद्धि की विशेषताएं | Characteristics of Intelligence

बुद्धि एक सामान्य योग्यता है. इस योग्यता से व्यक्ति अपने को तथा दुसरे को समझाता है. सच यह है कि सामाजिक तथा वैयक्तिक परिवेश में अन्तःक्रियात्मक गतिशीलता तथा क्षमता का नाम बुद्धि है. बुद्धि की विशेषताएं इस प्रकार हैं.

  • बुद्धि, व्यक्ति की जन्मजात शक्ति है.
  • बुद्धि, व्यक्ति को अमूर्त चिन्तन की योग्यता प्रदान करती हैं.
  • बुद्धि, व्यक्ति को विभिन्न बातों को सीखने में सहायता देती हैं.
  • बुद्धि, व्यक्ति को अपने गत अनुभवों से लाभ उठाने की क्षमता देती हैं.
  • बुद्धि, व्यक्ति की कठिन परिस्थतियों और जटिल समस्याओं को सरल बनाती हैं.
  • बुद्धि, व्यक्ति को नवीन परिस्थितियों से सामंजस्य करने का गुण प्रदान करती हैं.
  • बुद्धि, व्यक्ति को भले और बुरे, सत्य और असत्य, नैतिक और अनैतिक कार्यों में अंतर करने की योग्यता देती हैं.
  • बुद्धि पर वंशानुक्रम और वातावरण का प्रभाव पड़ता हैं.
  • प्रिंटर के अनुसार – बुद्धि का विकास जन्म से लेकर किशोरावस्था के मध्यकाल तक होता हैं.
  • कोल एवं ब्रूस के अनुसार – लिंग-भेद के कारण बालकों और बालिकाओं की बुद्धि में बहुत ही कम अंतर होता हैं.

बुद्धि के प्रकार | Types of Intelligence

बुद्धि का विभाजन करना एक कठिन कार्य है. बुद्धि तो वह क्षमता है जिसका उपयोग व्यक्ति विभिन्न परिस्थितयों तथा परिवेश में करता हैं. इन आधार पर बुद्धि का वर्गीकरण विद्वानों ने इस प्रकार किया हैं.

गैरिट ने तीन प्रकार की बुद्धि का उल्लेख किया है –

  1. मूर्त बुद्धि | Concrete Intelligence – इस बुद्धि को ‘गामक’ या ‘यांत्रिक बुद्धि’ ( Motor of Mechanical Intelligence ) भी कहते हैं. इसका सम्बन्ध यंत्रों और मशीनों से होता है. जिस व्यक्ति में यह बुद्धि होती है, वह यंत्रों और मशीनों के कार्य में विशेष रुचि लेता हैं. अतः इस बुद्धि के व्यक्ति अच्छे कारीगर, मैकेनिक, इंजीनियर, औद्योगिक कार्यकर्ता आदि होते हैं.
  2. अमूर्त बुद्धि | Abstract Intelligence – इस बुद्धि का सम्बन्ध पुस्तकीय ज्ञान से होता है. जिस व्यक्ति में यह बुद्धि होती है, वह ज्ञान का अर्जन करने में विशेष रुचि लेता हैं. अतः इन बुद्धि के व्यक्ति अच्छे वकील, डॉक्टर, दार्शनिक, चित्रकार, साहित्यकार आदि होते हैं.
  3. सामाजिक बुद्धि | Social Intelligence – इस बुद्धि का सम्बन्ध व्यक्तिगत और सामाजिक कार्यों से होता हैं. जिस व्यक्ति में यह बुद्धि होती है, वह मिलनसार, सामाजिक कार्यों में रुचि लेने वाला और मानव-सम्बन्ध के ज्ञान से परिपूर्ण होता हैं. अतः इस बुद्धि के व्यक्ति अच्छे मंत्री, व्यवसायी, कूटनीतिज्ञ और सामाजिक कार्यकर्ता होते हैं.

इसे भी पढ़े –