Bitcoin – डिजिटल करेंसी की पूरी जानकारी

Bitcoin Digital Currency

Full Details of Bitcoin Digital Currency in Hindi – भारत में नोटबंदी के बाद बिटकॉइन (डिजिटल करेंसी या वर्चुअल करेंसी) कुछ ज्यादा ही पॉपुलर हो गया हैं. इसकी वजह यह हैं कि नोटबंदी से पहले 1 Bitcoin को खरीदने के लिए आपको लगभग 708 डॉलर (8-Nov-2016) देना पड़ता परन्तु नोटबंदी के बाद यह 2,000 डॉलर (22-May-2017) पर ट्रेड कर रहा हैं.

बिटकॉइन का सबसे छोटा मापदंड सतोशी (Satoshi ) हैं. 1Bitcoin (बिटकॉइन) = 100,000,000 Satoshi (सतोशी).

बिटकॉइन क्या हैं (What is Bitcoin)?

Bitcoin एक Cryptocurrency और Electronic Payment System हैं.  इसकी खोज किसी अज्ञात प्रोग्रामर या प्रोग्रामर के समूह के द्वारा सतोशी नाकामोटो (Satoshi Nakamoto) नाम के तहत हुआ था. इसे 2009 में ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर (Open-source Software) के रूप में जारी किया गया था.

बिटकॉइन को आप डिजिटल करेंसी (digital currency), वर्चुअल करेंसी (virtual currency), इलेक्ट्रॉनिक करेंसी (electronic currency) या क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) भी कह सकते हैं.

Bitcoin – डिजिटल करेंसी कैसे काम करता हैं (How Bitcoin – Digital Currency works)?

बिटकॉइन का प्रयोग पीयर टू पीयर (Peer-to-Peer) टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं. इसका अर्थ यह हैं किआप बिटकॉइन की मदद से दो कंप्यूटर के बीच पैसे का लेन-देन कर सकते हैं. इस लेन-देन के लिए किसी गार्जियन या सेन्ट्रल बैंक की जरूरत नही पड़ती हैं. इस माध्यम से कोई भी पैसे  का लेन-देन कर सकता हैं इसके लिए किसी तरह की रजिस्ट्रेशन अथवा आईडी की जरूरत नही पड़ती हैं.

बिटकॉइन – डिजिटल करेंसी क्यों पॉपुलर हो रहा हैं (Why Bitcoin – Digital Currency is so popular)?

  1. बिटकॉइन लेनदेन की प्रकिया में सबसे अच्छा और सस्ता तरीका हैं. बिना किसी फ़ीस के आप बिटकॉइन नेटवर्क का उपयोग करके भुगतान ले और दे सकते हैं.
  2. बिटकॉइन – डिजिटल करेंसी लेनदेन में काफी सुरक्षित हैं जिससे धोखे की सम्भावना कम हो जाती हैं.
  3. बिटकॉइन के माध्यम से अंतराष्ट्रीय भुगतान बिना किसी फ़ीस या रूकावट के स्थानांतरित किया जा सकता हैं.
  4. बिटकॉइन को आप जहाँ भी खर्च करेंगे या उसका जैसा उपयोग करेंगे. इन सबकी जानकारी आप पा सकते हैं. कई संगठनों या कंपनी को उनके हिसाब लेखांकन दस्तावेजो को पेश करने की आवश्यकता होती हैं. यह पारदर्शिता में उत्तम हैं.
  5. ऑनलाइन कारोबार में यह नया भुगतान का तरीका हैं और इसमे बहुत संभावनाए हैं. बिटकॉइन को आप अपने कंप्यूटर के माध्यम से कमा सकते हैं.

बिटकॉइन माइनिंग क्या होता हैं (What is Bitcoin Mining)?

ट्रांजेक्शन (लेनदेन) के रिकार्ड्स को रखने की  प्रक्रिया को बिटकॉइन माइनिंग कहते  हैं. इसे हम इस प्रकार भी समझ सकते हैं जब हम ऑनलाइन अपने बैंक अकाउंट से कोई ट्रांजेक्शन (लेनदेन) करते हैं तो उसका एक रिकॉर्ड बन जाता हैं जिसे हम कभी भी देख सकते हैं. उसी तरह इसमे भी ट्रांजेक्शन (लेनदेन) के रिकार्ड्स सुरक्षित रहते हैं.