दिवाली के बारे में रोचक जानकारियाँ

Facts About Diwali in Hindi

Interesting Facts about Diwali in Hindi – भारत सहित लगभग पूरे विश्व में दिवाली को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता हैं. भारत में इसे बड़े ही उत्साह और ख़ुशी के साथ मनाया जाता हैं. लोगो नये-नये कपडे पहनते हैं. मिठाई एक दुसरे को देते हैं और खिलाते हैं. दीपो से घर को सजाते हैं. घर की साफ़-सफाई करते हैं. कई जगहों पर लक्ष्मी जी और भगवान् गणेश जी की भव्य पूजा की जाती हैं. लोग अपने घरों में भी देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश जी की पूजा करते हैं.

दिवाली के बारे में हिंदी में तथ्य | Facts About Diwali in Hindi

  1. दिवाली या दीपावली, प्रकाश का त्यौहार है जिसमें दिवाली से पहले ही लोग अपने घरों की साफ़-सफाई करना शुरू कर देते हैं. दीपावली के दिन लोग घर में और घर के बाहर रंगोली बनाते हैं. घर को दीप से सजाते हैं. रात का नजारा बड़ा ही मनमोहक होता हैं.
  2. दिवाली को लगभग 800,000,000.00 (800 Million) से ज्यादा लोग मनाते हैं.
  3. इस त्यौहार में मुख्य रूप से देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती हैं ताकि घर में खुशियाँ, सुख और सम्पत्ति आयें. विभिन्न धर्मो के लोग अन्य धार्मिक मान्यताओं की वजह से भी दीपावली उनके लिए विशेष होता हैं.
  4. भारत, म्यांमार, नेपाल, मॉरिशस, गुयाना, सिंगापुर, सूरीनाम, मलेशिया, श्रीलंका और फिजी में देवाली को राष्ट्रीय छुट्टी (National Holidays) होती हैं.
  5. भगवान् राम, लक्ष्मण और सीता जी चौदह वर्ष वनवास के बाद अयोध्या लौट कर आये थे तो पूरे नगर को दीपों से सजाया गया और पूरे नगरकी लोग खुश थे क्योकि भगवान् राम ने रावण को मार दिया था. असत्य पर सत्य की जीत हुई थी. इसलिए हर वर्ष इसी दिन को दीपावली मनाते हैं.
  6. दीपावली में लोग पटाखों पर बहुत ज्यादा पैसा खर्च करते हैं जिसकी वजह से महानगरो (दिल्ली, मुंबई, कोलकाता) में ध्वनि प्रदूषण, वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण सबसे अधिक होता हैं. प्रदूषण इतना अधिक होता हैं कि उसके बाद हॉस्पिटल में मरीजों की संख्या काफी बढ़ जाती हैं. कई बार आकाश में कई दिनों तक काले धुएं भी छायें रहते हैं.
  7. लोग दिवाली को “धन का आगमन” या “सौभाग्य का भी आगमन” मानते हैं इसलिए बहुत से लोग अपने भाग्य को आजमाने के लिए लोग “जुआ” भी खेलते है. कुछ लोगो इसे मनोरंजन के तौर पर भी खेलते हैं.
  8. सिख धर्म में दिवाली का बड़ा ही महत्व हैं क्योकि दिवाली के दिन ही 1577 में “स्वर्ण मंदिर” की नीँव रखी गई थी.
  9. दिवाली में जो पटाखे फोड़े जाते हैं उनका अनुमानित दाम 60-70 अरब रूपये के लगभग होता हैं.
  10. दीपावली से एक दिन पहले धनतेरस को लोग अपने घरो के लिए कुछ न कुछ नई चीजें जरूर खरीदते हैं ताकि घर में सुख-सम्पत्ति आएँ.