दान पर दोहे

Daan Par Dohe

दान पर दोहे ( Daan Par Dohe ) – इस पोस्ट में कबीर, रहीम और तुलसीदास जी के कुछ बेहतरीन दान पर दोहे दिए गये हैं. इन दोहों को जरूर पढ़े.

बेहतरीन दान पर दोहे

रहिमन वे नर मर चुके, जे कहिं माँगन जाहिं ।
उनसे पहले वे मुए , जिन मुख निकसत नाहिं ।।
रहीम


जो जल बाढ़े नाव में, घर में बाढ़े दाम ।
दोऊ हाथ उलीचिये, यही सयानों काम ।।
कबीर


तुलसी पंछिन के पिये, घटे न सरिता-नीर ।
दान दिये धन ना घटे, जो सहाय रघुवीर ।।
तुलसीदास


जो कोई करै सो स्वार्थी, अरस परस गुन देत ।
बिन किये करै सो सूरमा, परमारथ के हेत।।
कबीर


इसे भी पढ़े –