मिर्ज़ा ग़ालिब Best शायरी WhatsApp Status के लिए

मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ “ग़ालिबउर्दू एवं फ़ारसी भाषा के महान शायर थे. ग़ालिब साहब उर्दू भाषा के महान शायर हैं और भविष्य में भी शायद रहे. ग़ालिब को मुख्यतः उनकी उर्दू ग़ज़लों को लिए याद किया जाता है. उन्होने अपने बारे में स्वयं लिखा था कि दुनिया में यूं तो बहुत से अच्छे कवि-शायर हैं, लेकिन उनकी शैली सबसे निराली है.

“हैं और भी दुनिया में सुख़न्वर बहुत अच्छे
कहते हैं कि ग़ालिब का है अन्दाज़-ए बयां और”

ग़ालिब Best Cool शायरी WhatsApp Status के लिए

हम को मालूम है जन्नत की हक़ीक़त लेकिन
दिल के ख़ुश रखने को ‘ग़ालिब’ ये ख़याल अच्छा है

- Advertisement -

इस सादगी पे कौन न मर जाए ऐ ख़ुदा
लड़ते हैं और हाथ में तलवार भी नहीं

हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश पे दम निकले
बहुत निकले मिरे अरमान लेकिन फिर भी कम निकले

उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक़
वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है

दिल-ए-नादाँ तुझे हुआ क्या है
आख़िर इस दर्द की दवा क्या है

इश्क़ ने ‘ग़ालिब’ निकम्मा कर दिया
वर्ना हम भी आदमी थे काम के

Latest Articles