हॉकी पर कविता | Hockey Poem in Hindi

Hockey Poem in Hindi

Hockey Poem in Hindi – हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल है. लेकिन यहाँ सबसे ज्यादा लोग क्रिकेट के दीवाने है. हॉकी के खेल को भारत में और भी पॉपुलर बनाना चाहिए. ताकि बेहतरीन से बेहतरीन खिलाड़ी भारतीय टीम में शामिल हो और मेजर ध्यानचंद जैसा जादू पूरी दुनिया को दिखा सके.

हॉकी पर कविता | Hockey Poem in Hindi

जैसे लोग डर जाते है
देखकर खाकी को
वैसे ही विपक्षी डर जाते थे
उसके हाथों में देखकर हॉकी को

प्रयागराज में जन्म लिया
हॉकी का इतिहास लिखने के लिए
गुलामी में जिया
मगर खेला देश का नाम रौशन करने के लिए

मेजर ध्यानचंद हर हॉकी के
खिलाड़ी के दिल में जिंदा है
मरने से पहले इक इतिहास बना दो
क्योंकि ये जान एक परिंदा है।

इतिहास भी बेताब है
हॉकी के खिलाड़ी को
जादूगर का खिताब देने को
क्या कोई खिलाड़ी तैयार है
इस खिताब को लेने को

इतिहास बेताब है
कुछ रिकॉर्ड तोड़ने के लिए
क्या कोई खिलाड़ी तैयार है
गोल पर गोल ठोकने के लिए


इसे भी पढ़े –