HomeKavi and Kavita

Kavi and Kavita

इतनी रंग बिरंगी दुनिया

Itanee Rang Birangee Duniya Poem  - यह कवित कुमार विश्वास के द्वारा गाया गया हैं. कुमार विश्वास की कविताएँ बहुत ही पॉपुलर होती हैं...

हर बार ये इल्ज़ाम रह गया..

हर बार ये इल्ज़ाम रह गया..! हर काम में कोई काम रह गया..!! नमाज़ी उठ उठ कर चले गये मस्ज़िदों से..! दहशतगरों के हाथ में इस्लाम रह...

अब तो बरस जा – कविता

एक बार आकर देख कैसा, ह्रदय विदारक मंजर है पसलियों से लग गयीं हैं आंतें, खेत अभी भी बंजर है टकटकी बाँध तकती निगाहों पर, तनिक...

कविता | Kavita

इस पोस्ट में आपको कविता, दोहे और बड़े-बड़े कवियों की रचनाएँ मिलेंगी. नीचे दी गयी कबिताये और दोहे बहुत ही मोटिवेशनल हैं इसे आपको...

किसान कविता | Kisan Kavita

Kisan Kavita - कवि सुदीप भोला के द्वारा किसानो को समर्पित यह कविता हृदय को जब छूती हैं तो आँखों से अपने आप ही...

कबीर के दोहे – भाग 1

Kabir Ke Dohe - कबीर के दोहे हमें बहुत कुछ सिखाते हैं और इन छोटे-छोटे दोहों से हमें वह ज्ञान और जानकारी प्राप्त होती...

कबीर के दोहे (Kabir Ke Dohe)

Kabir Ke Dohe - कबीर के दोहे आज भी हमें बहुत सारी ज्ञान की बाते  बताते हैं. कबीर जी हिंदी साहित्य के भक्ति युग...