Second World War in Hindi | द्वितीय विश्व युद्ध की रोचक बातें

Second World War History in Hindi – द्वितीय विश्व युद्ध, 1 सितंबर 1939 से 2 सितम्बर 1945 तक चलने वाला एक महायुद्ध था. इस महायुद्ध में लगभग 70 देशों ने भाग लिया था, सभी देशों की थल-जल-वायु सेनाओं ने भाग लिया था. इस युद्ध में सामिल सभी महाशक्तियों ने अपनी आर्थिक, औद्योगिक तथा वैज्ञानिक ताकत को युद्ध में लगा दिया था.

मृत्यु एवं हानि
Allied Powers (मित्रराष्ट्र) Central Powers (धुरीराष्ट्र या केन्द्रीय राष्ट्र)
मृत सैन्य 16,000,000 से अधिक 8,000,000 से अधिक
मृत नागरिक 45,000,000 से अधिक 4,000,000 से अधिक
कुल मृत 61,000,000 से अधिक (1937–45) 12,000,000 से अधिक (1937–45)

How the second World War began | द्वितीय विश्व युद्ध कैसे आरम्भ हुआ

द्वितीय विश्व युद्ध का मुख्य कारण हिट्लर को माना जाता हैं. प्रथम विश्वयुद्ध में हार के बाद जर्मनी को मजबूरी में “वर्साय की संधि” पर हस्ताक्षर करना पड़ा, जिसकी वजह से जर्मन कब्जे की बहुत सारी जमीनें छोडनी पड़ी. दूसरें देशों पर आक्रमण न करने की और सेना को सीमित करने की शर्त माननी पड़ी. प्रथम विश्वयुद्ध में हुए नुक्सान की भी भरपाई करनी पड़ी.

जब 1933 में जर्मनी का शासक एडोल्फ़ हिटलर बना और उसने जर्मनी को वापस एक शक्तिशाली सैन्य ताकत के रूप में प्रदर्शित करना शुरू कर दिया जिसकी वजह से फ्रांस और इंग्लैंड चिन्तितं हो गये क्योकि वो पिछली युद्ध में काफी नुक्सान उठा चुके थे. फ्रांस खुद को मजबूत स्थिति में रखने के लिए उसने इटली के साथ हाथ मिला लिया. 1935 में बात और बिगड़ गयी जब हिटलर अपनी सेना को बड़ा करने का काम शुरू कर दिया था. उसने “वर्साय की संधि” तोड़ दी थी.

धीरे-धीरे समय के साथ तनाव भी बढ़ने लगा. यूरोप में जर्मनी और इटली ताकतवर होते जा रहे थे. 1937 में चीन और जापान मार्को पोलों में आपस में लड़ रहे थे. 1938 में जर्मनी ने आस्ट्रिया पर हमला बोल दिया. सितम्बर 1939 में सोवियत संघ ने जापान को अपनी सीमा से खदेड़ दिया और उसी समय जर्मनी ने पोलैंड पर हमला बोल दिया. उसके बाद फ़्रांस, इंग्लेंड और राष्ट्रमंडल देशों ने भी जर्मनी खिलाफ युद्ध का बिगुल बजा दिया और धीरे-धीरे बात बढती गयी. अन्त में यह एक विश्व युद्ध का रूप ले लिया और यह दूसरा विश्व युद्ध कहलाया.

Role of India in Second World War | द्वितीय विश्व युद्ध में भारत की भूमिका

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारत गुलामी के दौर से गुजर रहा था और भारत पर अंग्रेजो का शासन था इसलिए भारत भारत ने भी जर्मनी के विरूद्ध 1939 में युद्ध की घोषणा की और 20 लाख से अधिक सैनिक युद्ध के लिए भेजा. युद्ध के लिए गुलाम भारत के राजाओं और रियासतों ने बड़ी मात्रा में धनराशि अंग्रेजो को दी थी.

How the End of Second World War | द्वितीय विश्व युद्ध का अंत कैसे हुआ

मित्र राष्ट्रों ने जर्मनी द्वारा क़ब्ज़ा किए हुए फ़्रांस पर आक्रमण किया और दूसरी ओर से सोवियत संघ ने अपनी खोई हुयी ज़मीन वापस छीनने के बाद जर्मनी तथा उसके सहयोगी राष्ट्रों पर हमला बोल दिया जिसकी वजह से सोवियत और पोलैंड की सेनाओं ने बर्लिन पर क़ब्ज़ा कर लिया. जर्मनी ने बिना शर्त आत्मसमर्पण कर दिया.

1945 के दौरान अमेरिकी नौसेना कई जगहों पर जापानी नौसेना को शिकस्त दी. जब जापान पर आक्रमण का समय आया तो अमेरिका ने जापान में दो परमाणु बम गिरा दिए. इन सब कारणों की वजह से दूसरा विश्व युद्ध समाप्त हुआ.

Second World War results | द्वितीय विश्वयुद्ध का परिणाम

  1. मित्रराष्ट्र की विजय
  2. नाजी जर्मनी का पतन
  3. जापानी और इतालवी साम्राज्यों का पतन
  4. राष्ट्र संघ का विघटन
  5. संयुक्त राष्ट्र का निर्माण
  6. महाशक्तियों के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका और सोवियत संघ का उत्थान
  7. शीत युद्ध की शुरुआत

Second World War History in Hindi | द्वितीय विश्व युद्ध इतिहास हिंदी में

  1. द्वितीय विश्वयुद्ध की शुरूआत 1 सितम्बर, 1939 ई. को हुई. यह 6 वर्षो तक लड़ा गया. इसका अंत 2 सितम्बर 1945 को हुआ.
  2. द्वितीय विश्व युद्ध का तात्कालिक कारण जर्मनी का पोलैंड पर आक्रमण था.
  3. हिटलर को द्वितीय विश्व युद्ध के लिए जिम्मेदार माना जाता हैं.
  4. 1939 से 1945 के बीच करीब 34 लाख बम गिरायें गये थे यानि प्रतिमाह लगभग 27,7000 बम.
  5. द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जर्मन ‘जनरल रोम्मेल’ का नाम ‘डेजर्ट फॉक्स’ रखा गया था.
  6. म्यूनिख पैक्ट सितम्बर, 1938 ई. को सम्पन्न हुआ.
  7. जर्मनी ने वर्साय की संधि का उल्लंघन 1935 ई. में किया.
  8. स्पेन में गृह-युद्ध 1936 ई. में शुरू हुआ.
  9. संयुक्त ररप से इटली एवं जर्मनी का पहला शिकार स्पेन था.
  10. जर्मनी द्वारा सोवियत संघ पर आक्रमण करने की योजना को “ऑपरेशन बारबोसा” कहा गया.
  11. 23 अगस्त 1939 ई. को जर्मनी-रूस आक्रमण समझौते पर हस्ताक्षर हुए. जर्मनी ने रूस पर समझौता उल्लंघन का आरोप लगाकर उस पर जून 1941 ई. में आक्रमण कर दिया.
  12. जर्मनी की ओर से द्वितीय विश्व युद्ध में 10 जून, 1940 ई. को इटली ने प्रवेश किया.
  13. द्वितीय विश्व युद्ध में जर्मनी की पराजय का श्रेय रूस को दिया जाता हैं.
  14. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका ने 6 अगस्त, 1945 ई. को जापान पर अणुबम का प्रयोग किया.
  15. द्वितीय विश्व युद्ध में मित्रराष्ट्रों द्वारा पराजित होने वाला देश जापान था.
  16. अमेरिका ने हिरोशिमा पर “फैटमैन” तथा नागासाकी पर “लिटिल बॉय” नामक एटम बम जो 100 मेगा वात का था उसे गिराया.
  17. अन्तराष्ट्रीय क्षेत्र में द्वितीय विश्व युद्ध का सबसे बड़ा योगदान संयुक्त राष्ट्रसंघ की स्थापना हैं.