Islam Dharma | इस्लाम धर्म की रोचक जानकारियाँ

Islam Dharma – इस्लाम एक एकेश्वरवादी धर्म है इसलिए मुसलमान एक ही ईश्वर को मानते हैं, जिसे वे अल्लाह कहते हैं. इस्लाम में ईश्वर को मानव की समझ से परे माना जाता हैं. अल्लाह के अंतिम रसूल और नबी, मुहम्मद द्वारा मनुष्यों तक पहुंचाई गई अंतिम ईश्वरीय पुस्तक क़ुरआन है. कुरआन अरबी भाषा में रची गई और इसी भाषा में विश्व की कुछ जनसंख्या के 25% लोगो द्वारा पढ़ी जाती हैं.

Islam Dharma – Interesting Facts | इस्लाम धर्म के रोचक तथ्य

  1. इस्लाम धर्म ( Islam Dharma ) के संस्थापक हजरत मुहम्मद साहब थे.
  2. हजरत मुहम्मद साहब का जन्म 570 ई. में मक्का में हुआ था.
  3. हजरत मुहम्मद साहब की पिता का नाम अब्दुल्ला और माता का नाम अमीना थी.
  4. हजरत मुहम्मद साहब को 610 ई. में मक्का के पास हीरा नामक गुफा में ज्ञान की प्राप्ति हुई.
  5. 24 सितम्बर 622 ई. को पैगम्बर के मक्का से मदीना की यात्रा इस्लाम जगत में मुस्लिम संवत् ( हिजरी संवत् ) के नाम से जाना जाता हैं.
  6. मुहम्मद की शादी 25 वर्ष की अवस्था में खदीजा नामक विधवा के साथ हुआ.
  7. मुहम्मद की पुत्री काम नाम फातिमा एवं दामाद का नाम अली हुसैन था.
  8. देवदूत ग्रैबियल ने पैगम्बर मुहम्मद साहब को कुरान अरबी भाषा में सम्प्रेषित की.
  9. कुरान इस्लाम धर्म का पवित्र ग्रन्थ हैं. पैगम्बर मुहम्मद साहब ने कुरआन की शिक्षाओं का उपदेश दिया.
  10. हजरत मुहम्मद साहब की मृत्यु 8 जून 632 ई. को हुई. इन्हें मदीना में दफनाया गया.
  11. मुहम्मद साहब की मृत्यु के पश्चात् इस्लाम सुन्नी तथा शिया नामक दो पंथो में विभाजित हो गया.
  12. सुन्नी उन्हें कहते है जो सुन्ना में विश्वास करते हैं. सुन्ना पैगम्बर मुहम्मद साहब के कथनों और कार्यों का विवरण हैं.
  13. शिया अली की शिक्षाओं में विश्वास करते हैं तथा उन्हें मुहम्मद साहब का न्यायसंगत उत्तराधिकारी मानते हैं. अली मुहम्मद साहब के दामाद थे.
  14. अली की सन 661 ई. में हत्या कर दी गई. अली के पुत्र हुसैन की हत्या 680 ई. में कर्बला (इराक) नामक स्थान पर कर दी गई. इन दोनों हत्या ने शिया को निश्चित मत दे दिया.
  15. पैगम्बर मुहम्मद साहब के उत्तराधिकारी ‘खलीफा’ कहलाये.
  16. इस्लाम जगत में खलीफा पद 1924 ई. तक रहा. 1924 ई. में इसे तुर्की के शासक मुस्तफा कमालपाशा ने समाप्त कर दिया.
  17. इब्न इशाक ने सर्वप्रथम पैगम्बर साहब का जीवन चरित्र लिखा.
  18. मुहम्मद साहब के पैगम्बर के जन्म-दिन पर ईद-ए-मिलाद-उन-नवी पर्व मनाया जाता हैं.