इन्सल्ट शायरी | Insult Shayari | Love Insult Shayari

Insult Shayari

Insult Shayari in Hindi – इस पोस्ट में बेहतरीन Insult Shayari और Funny Shayari दी गयी हैं. इस पोस्ट को जरूर पढ़े.

इन्सल्ट शायरी | Insult Shayari

दिल की तमन्ना है कि मैं भी
अपनी पलकों पे बैठाऊं तुझको,
बस तू अपना वजन कम कर ले,
जिससे ये काम आसान लगे मुझकों.
Insult Shayari


चाँद से रौशनी ज्यादा
और सितारों से कम निकले,
जब भी मैं तुझे देखूँ
मेरा हँस-हँस के दम निकले.


इस दिल को तो एक बार
बहला कर चुप करा लिया हैं,
पर इस दिमाग का क्या करूँ
जिसका तुमने दही बना दिया हैं.
Best Insult Shayari


पानी आने की बात करते हो,
दिल जलाने की बात करते हो,
चार दिन से मुहँ नही धोया,
तुम नहाने की बात करते हो.


आसमान जितना नीला हैं,
सूरजमुखी जितना पीला हैं,
पानी जितना गीला हैं,
आपका स्क्रू उतना ही ढीला हैं.
इन्सल्ट शायरी


कमाल के तेर नखरें
कमाल का तेरा स्टाइल हैं,
बात करने की तमीज नही
और हाथ में मोबाइल हैं.


तारीफ़ के काबिल हम कहाँ,
चर्चा तो आपकी चलती हैं,
सब कुछ तो हैं आपके पास
बस सींग और पूंछ की कमी खलती हैं.


शाम होते ही ये दिल उदास होता हैं,
टूटे ख्वाबों के सिवा कुछ न पास होता हैं,
तुम्हारी याद ऐसे वक्त बहुत आती हैं,
जब कोई बंदर आस-पास होती हैं.
Love Insult Shayari


तू कहे तो चाँद तारे तोड़ दूँ,
तू कहे तो ये दुनिया छोड़ दूँ,
तू एक बार हँस के देख मेरे दोस्त,
तेरे सारे गंदें दांत तोड़ दूं.