डीमैट अकाउंट की पूरी जानकारी | Demat Account in Hindi

What is Demat Account in Hindi – डीमैट खाता क्या हैं? इसके फायदें क्या हैं? इसको कहाँ और कैसे खुलवाएँ इसकी पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को जरूर पढ़े. शेयर बाज़ार में निवेश करने के लिए डीमैट अकाउंट का होना जरूरी होता हैं.

डीमैट अकाउंट क्या हैं | What is Demat Account in Hindi

शेयरों को ख़रीदने, बेचने और इलेक्ट्रानिक्स रूप में रखने की सुविधा Demat Account द्वारा मिलती हैं. किसी भी तरह के शेयरों के लेनदेन के लिए Share Holder के पास डीमैट अकाउंट का होना आवश्यक हैं.

जब कोई कंपनी बोनस या राइट शेयर जारी करती हैं तो ये शेयर भी सीधे शेयर होल्डर के डीमैट अकाउंट में आ जाते हैं. आईपीओ ( IPO ) में शेयरों के आवेदन के लिए भी डीमैट खाते की आवश्यकता होती हैं.

जब हम डीमैट अकाउंट खुलवाते हैं तब हमें शेयर खरीदने और बेचने की जानकारी के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी दी जाती हैं. जब डीमैट अकाउंट खुल जाता हैं तब आपको एक ‘User ID‘ और ‘Password‘ दिया जाता हैं जिसके द्वारा आप ऑनलाइन अपने डीमैट अकाउंट में लॉग इन करके शेयर को ख़रीद और बेच सकते हैं. यह बहुत ही आसान होता हैं.

डीमैट खाते की फायदें | Advantages of Demat Account

  1. निवेशक को दिया जाने वाला बोनस या राईट शेयर को तुरंत उनके खाते में जमा कर दिया जाता हैं.
  2. चोरी होने, खराब होने, गम होने का कोई डर नहीं रहता हैं. डीमैट अकाउंट होने की वजह से शेयरों की खरीद-बिक्री में धोखा होने की सम्भावना समाप्त हो जाती हैं और यह सुविधाजनक हैं.
  3. डीमैट खाता रखने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको टिकट के लिए भुगतान नहीं करना पड़ता है क्योंकि ये इलेक्ट्रॉनिक रूप से संग्रहीत हैं जो लेनदेन लागत को कम कर देता है.
  4. डीमैट खातें का शेयर दुसरे को ट्रान्सफर कर सकते हैं.
  5. यह खाता दो व्यक्तियों के नाम से भी खुलवाया जा सकता हैं

डीमैट खाता कहाँ खुलवाएं | Where to open a Demat Account

डीमैट अकाउंट खुलवाने की सुविधा कई बैंकों और वित्तीय संस्थानों के द्वारा दिया जाता है. इसमें आपको यह देखना होता हैं शेयर की खरीदने और बेचने पर कौन सा बित्तीय संसथान कितना कमीशन लेता हैं. कुछ वित्तीय संस्थान Free Demat Account भी खोलते हैं पर वो बाद में शेयर खरीदने और बेचने पर अधिक कमीशन लेते हैं और कुछ वित्तीय संस्थान डीमैट अकाउंट खोलने के समय कुछ अमाउंट चार्ज करते हैं वहाँ पर शेयर खरीदने और बेचने पर कम कमीशन देना होता हैं. डीमैट अकाउंट के बारे में पूरी जानकारी 3-4 वित्तीय संस्थानों से ले और फिर जो आपको कम पैसे में ज्यादा सुविधा दे रहा हो वहाँ अपना खाता खुलवा सकते हैं.

नोट – मैंने अपना डीमैट अकाउंट HDFC Bank में खुलवाया हैं.सबसे पहले मैंने Saving Account खुलवाया था और बाद में जब मैं शेयर बाजार के बारे में अच्छी जानकारी ले ली तो मैंने HDFC Bank में अपना Demat Account खुलवाया. इसमें कई तरह के प्लान होते हैं उन्हें अच्छे तरीके से समझे. दो-तीन वित्तीय संस्थानों के प्लान की तुलना करे और फिर जो आपको बेहतर लगे उसमे अपना अकाउंट खुलवाए.

डीमैट खाता कैसे खुलवाएं | How to open a Demat Account

जब आप यह कन्फर्म कर ले कि इस वित्तीय संस्थान में डीमैट अकाउंट खुलवाना हैं तो आप उसके वेबसाइट पर जाकर या कस्टमर केयर पर कॉल करके खाता खुलवाने में कौन सा डॉक्यूमेंट और क्या-क्या लगेगा इसकी पूरी जानकारी ले सकते हैं और डीमैट खाता खुलवाने के लिए उन्हें अपने घर या ऑफिस में बुला सकते हैं. आप उस वित्तीय संस्थान पर जाकर भी खाता खुलवा सकते हैं.

नोटDemat Account खुलवाने के बाद उनसे डेमो जरूर ले कि किस तरह शेयर खरीदा या शेयर को बेचा जाता हैं और अन्य जानकारी भी ले. जल्दबाजी में कभी भी निवेश न करें. पहले जरूरी जानकारी ले फिर निवेश करें.