Conrad Sangma Biography in Hindi | कॉनराड संगमा की पूरी जीवनी

Conrad Sangma

Conrad Sangma Biography in Hindi – कॉनराड संगमा का नाम आपने न्यूज चैनल और अखबारों में जरूर सुना होगा. इस वर्ष हुए मेघालय राज्य में विधान सभा चुनाव में इनकी पार्टी ने अपनी सरकार बनाने का दावा पेश किया हैं. इस पोस्ट में कॉनराड संगमा के जीवन के बारे में पूरी जानकारी दी गयी हैं.

कॉनराड संगमा ( Conrad Sangma ) का पूरा नाम कॉनराड कोंगकल संगमा हैं. वे मेघालय की क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी राष्ट्रीय पीपुल्स पार्टी ( National People’s Party ) के अध्यक्ष हैं. इसके पहले वे 2008 में राज्य के सबसे युवा वित्तमंत्री रह चुके हैं. 2018 में, मेघालय के विधानसभा चुनाव में कॉनराड संगमा के नेतृत्व वाली ‘राष्ट्रीय पीपुल्स पार्टी‘ 19 सीट जीतकर दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सामने आई हैं.

कॉनराड संगमा की जीवनी | Biography of Conrad Sangma

नाम – कॉनराड कोंगकल संगमा ( Conrad Kongka Sangma )
जन्म – 27 जनवरी, 1978
जन्म स्थान – मेघालय
माता – सोरादिनी कोंग्कल संगमा ( Soradini Kongkal Sangma )
पिता – पूर्णो अजीतोक संगमा ( Purno Agitok Sangma )
बहन – अगाथा संगमा
भाई – जेम्स संगमा
पत्नी – महताब संगमा (Mehtab Sangma)
बच्चे – एक पुत्री
राजनीतिक पार्टी – राष्ट्रीय पीपुल्स पार्टी
धर्म – इसाई

कॉनराड संगमा का जन्म मेघालय के तुर क्षेत्र में हुआ था. प्रारम्भिक शिक्षा दिल्ली के सेट कोलम्बस विद्यालय ( St. Columba’s School ) से की और ब्रिटेन की University of London और अमेरिका की University of Pennsylvania से उच्च शिक्षा ग्रहण की है.

कॉनराड संगमा के परिवार का रिश्ता काफ़ी समय से राजनीति से रहा हैं. 1988 में इनके पिता मेघालय के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गये थे. इनके पिता लोकसभा के स्पीकर भी रह चुके हैं. पीए संगमा ( कॉनराड संगमा के पिता ) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे हैं. बाद में वे कांग्रेस से अलग होकर नवगठित राष्ट्र्रवादी कांग्रेस पार्टी में चले गए थे. कॉनराड संगमा के भाई-बहन भी राजनीति से ही जुड़े हुए हैं.

कॉनराड संगमा का राजनैतिक जीवन | Political Career of Conrad Sangma

इन्होने अपने राजनैतिक जीवन का शुरूआत ‘राष्ट्रीय पीपुल्स पार्टी‘ का सदस्य बनकर शुरू किया. 2008 में, इस पार्टी की तरफ से कॉनराड संगमा ने पहली बार चुनाव लड़ा था. 2018 में हुए चुनाव में, इनकी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला हैं लेकिन भारतीय जनता पार्टी की मदद और समर्थन से मेघालय राज्य के मुख्यमंत्री की सपथ 6 मार्च, 2018 को लेंगे.