Barish Shayari | बारिश शायरी

Barish Shayari (बारिश शायरी), आप को इस पोस्ट में बारिश लव शायरी ( Barish Love Shayari ), बारिश स्टेटस ( Barish Status ), Rain Shayari, Barsat Shayari, Raining Shayari और  बारिश कोट्स ( Barish Quotes )  आदि मिलेंगे. बरसात का मौसम सबसे सुहाना मौसम होता हैं. इस मौसम में प्रेम का इक अलग ही रंग होता हैं. बचपन में जब हम बारिश में भीगते हैं तो लगता हैं कि दुनिया-जहान की खुशियाँ मिल गयी और जब बड़े हो जाते हैं तो सोचते हैं कि बारिश में भीग कर बीमार न पड़ जाए.

बारिश हुई और भीग गये हम,
रजनीकांत ने फूँक मारी सूख गये हम…

तेरी गलियें में कदम नही रखेंगे हम आज के बाद,
क्योकि कीचड़ हो गया हैं बरसात के बाद…!!!

Funny Barish Shayari in Hindi

यदि आप बारिश में भीगने का मजा नही ले रहे हैं तो बारिश की शायरी पढ़ने का मजा लीजिए.

Best Barish Shayari in Hindi | बरसात पर बेहतरीन शायरी

 

तुम्हारे शहर का बरसात बड़ा सुहाना लगे
इक शाम चुरा लू अगर बुरा ना लगे.

हम जागते रहे दुनिया सोती रही,
इक बारिश ही थी, जो मेरे साथ रोती रही.

अब भी बरसात की रातों में बदन टूटता है
जाग उठती हैं अजब ख़्वाहिशें अंगड़ाई की

हमारे शहर आ जाओ सदा बरसात रहती हैं,
कभी बादल बरसते हैं, कभी आँखे बरसती हैं.

मेरे शहर का मौसम कितना खुश गंवार हो गया,
लगा जैसे आसमां को जमीन से प्यार हो गया.

मजबूरियाँ ओढ़ के निकलता हूँ घर से आजकल
वरना शौक तो आज भी हैं बारिशो में भीगने का.

अब के सावन में ये शरारत मेरे साथ हुई,
मेरा घर छोड़ के पूरे शहर में बरसात हुई.

छुप जाएँ कहीं आ कि बहुत तेज़ है बारिश
ये मेरे तिरे जिस्म तो मिट्टी के बने हैं

हैरत से तकता है सहरा बारिश के नज़राने को
कितनी दूर से आई है ये रेत से हाथ मिलाने को

काश मेरे ज़िन्दगी में आए इक ऐसी बरसात,
मेरे हाथ में हो तेरा हाथ, भीगते रहे हम सारी रात,
होंट रहे ख़ामोश, बस आँखों से हो तेरी मेरी बात.

एक तो ये रात, उफ़ ये बरसात,
इक तो साथ नही तेरा, उफ़ ये दर्द बेहिसाब
कितनी अजीब सी हैं बात, मेरे ही बस में नही मेरे हालात

ये बारिश जरा थम के बरस,
जब मेरा सनम आ जाए तो जम के बरस,
पहले ना बरस कि वो आ न सके,
जब वो आ जाए तो इतना बरस कि वो जा न सके.