अवनि चतुर्वेदी का जीवन परिचय | Avani Chaturvedi Biography

first three woman fighter pilot

Avani Chaturvedi Biography in Hindi – अवनि चतुर्वेदी भारत की पहली महिला हैं जिन्होंने भारतीय वायुसेना में लड़ाकू विमान उड़ाने का कारनामा कर दिखाया. 19 फ़रवरी, 2018 को मिग-21 फाइटर जेट को उड़ाकर, पहली महिला फाइटर पायलट होने का सम्मान प्राप्त किया.

Avani Chaturvedi Biography in Hindi | अवनि चतुर्वेदी का जीवन परिचय

अवनि के पिता एक एग्जीक्यूटिव इंजिनियर और माता गृहणी हैं. जबकि भाई आर्मी में कैप्टेन हैं. भाई सी प्रेरित होकर अवनि चतुर्वेदी ने भारतीय सेना में आने का निर्णय लिया. अवनि ने फाइटर उड़ाकर एक इतिहास रच दिया और अपने परिवार और महिला समाज को गौरवान्वित किया.

नाम – अवनि चतुर्वेदी ( Avani Chaturvedi )
जन्म – 27अक्टूबर, 1993
जन्म स्थान – रीवा, मध्यप्रदेश, भारत
राष्ट्रीयता – भारतीय
पिता – दिनकर चतुर्वेदी
उपलब्धि – प्रथम महिला फाइटर पायलट
शिक्षा – स्नातक
हॉबी – टेनिस खेलना और चित्रकारी

अवनि चतुर्वेदी की शिक्षा | Education of Avani Chaturvedi

अवनि ने अपनी स्कूली शिक्षा दियोलैंड से की जो एक छोटा सा शहर हैं, यह मध्यप्रदेश के शहडोल जिले में स्थित हैं. उन्होंने 2014 में स्नातक प्रोद्योगिकी बनस्थली विश्वविद्यालय, राजस्थान से करते हुए भारतीय वायुसेना की परीक्षा भी पास की. हैदराबाद वायुसेना अकादमी से अपना प्रशिक्षण पूरा किया. जब अवनि चतुर्वेदी को पायलट बनने का मौका मिला तो परिवार ने काफी सपोर्ट किया. परिवार की ओर से हर कदम पर प्रोत्साहन मिला.

अवनि चतुर्वेदी के साथ दो और जांबाज लड़कियों ने मिग-21 फाइटर जेट को उड़ाकर एक नया इतिहास रच दिया.

  1. भावना कान्त – बेगूसराय, बिहार
  2. मोहना सिंह – वडोदरा गुजरात

Bhavana Kant Biography in Hindi | भावना कान्त का जीवन परिचय

नाम – भावना कंठ ( Bhavana Kanth )
जन्म – 01 दिसम्बर, 1992
शिक्षा – बीएमएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, बेंगलुरु
माता – राधा कंठ ( Radha Kanth )
पिता – तेज नरायण कंठ ( Tej Narayan Kanth )
उपलब्धि – प्रथम महिला फाइटर पायलट

Mohana Singh Biography in Hindi | मोहना सिंह का जीवन परिचय

नाम – मोहना सिंह ( Mohana Singh )
उपलब्धि – प्रथम महिला फाइटर पायलट

महिलाओं को सन्देश

समय बदलने के साथ-साथ महिलायें हर क्षेत्र में अपने दम और हुनर को दिखाकर एक नया इहितास रच रही हैं, अब समय आ गया है कि रूढ़वादी विचारों को दरकिनार करके लड़कियों की शिक्षा पर परिवार को विशेष ध्यान देना चाहिए क्योकि किसी परिवार, समाज या देश के विकास में शिक्षित महिलाओं का बड़ा योगदान होता हैं.

महिला मोटिवेशनल स्टोरी | Women Motivational Story

अरूणिमा सिन्हा की मोटिवेशनल स्टोरी | Arunima Sinha Hindi Motivational Story
पूरना मलावाथ के सफ़लता की कहानी | Success Story of Malavath Poorna in Hindi