Anmol Vachan – अनमोल वचन

जीवन में सभी लोग हमेशा उत्साहित रहना चाहते हैं और अपने कार्य को पूरे उत्साह के साथ करना चाहते हैं परन्तु कभी-कभी जीवन में लोग बहुत निराश हो जाते हैं. लोग एक ऐसी स्थिति में पहुँच जाते हैं जहाँ मस्तिष्क में अच्छी और सकारात्मक बाते आना बंद हो जाती हैं. ऐसे में आपको अच्छी किताबे (Good Books), अच्छे ब्लॉग (Good Blog), अनमोल बचन (Anmol Vachan), अनमोल ज्ञान (Anmol Gyan) से सम्बंधित चीजों को पढ़ना चाहिए जिससे आपके जीवन में फिर उमंग और उत्साह की लहर दौड़ जाए.

जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सकारात्मक उर्जा की बहुत जरूरत होती हैं इसलिए आप हमेशा अच्छी बाते सोचे और पढ़े. इससे आपको अपने लक्ष्य तक पहुचने में मदत मिलेगा.

Anmol Bachan in Hindi

अनमोल वचन 1 (Anmol Vachan 1)

24 घंटे में एक बार हमारी जिभ्वा और मस्तिष्क में सरस्वती जी विराजमान होती है इसलिए आप हमेशा अपने और दूसरो के बारे में अच्छा सोचे. क्या पता जो आप बोल रहे है या सोच रहे है उसी समय सरस्वती जी की कृपा हो और आप की बाते या सोच सच हो जाए. इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचे.

अनमोल वचन 2 (Anmol Vachan 2)

सीढियों की जरूरत उनको पड़ती हैं जिन्हें छत तक ही जाना हो. यदि आपकी मंजिल आकाश हैं तो आपको ख़ुद रास्ता बनाना होगा.

अनमोल वचन 3 (Anmol Vachan 3)

मुश्किलें केवल बहादुर लोगो के हिस्से में ही आती हैं, क्योकि वो लोग उसे बड़ी बहादुरी से अंजाम देने की ताकत रखते हैं.

अनमोल वचन 4 (Anmol Vachan 4)

मनुष्य में धैर्य होना चाहिए, जल्दबाजी नही.
मनुष्य में बहादुरी होनी चाहिए, ज़िद्द नही.
सोच सकारत्म होनी चाहिए, नकारात्मक नही.
ज्ञान होना चाहिए, अहंकार नही.

अनमोल वचन 5 (Anmol Vachan 5)

सबसे पहले आप ख़ुद पर विश्वास करे और फिर ईश्वर पर विश्वास करे, इसके बाद आप उसी विश्वास के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करे.

अनमोल वचन 6 (Anmol Vachan 6)

जीत हमारे जीवन में “प्रसन्नता” लाती हैं और हार हमारे जीवन में “समझदारी (ज्ञान)” लाती हैं.

अनमोल वचन 7 (Anmol Vachan 7)

नाव बदले से किनारे नही बदलते, दिशा बदलने से किनारे बदलते हैं. अपने लक्ष्य को न बदले अपने कार्य करने के तरीके को बदले.

अनमोल वचन 8 (Anmol Vachan 8)

जब हम किसी कार्य को करने के लिए सोचते हैं तो बहुत कठिन लगता हैं जब हम उसे कर देते हैं तो सोचते हैं कितना आसान था इसलिए सोचने में समय व्यर्थ न करे, कार्य को करने में समय का सदुपयोग करे.

अनमोल वचन 9 (Anmol Vachan 9)

जीवन में सफलता, प्रसन्नता का कारण नही होती हैं जबकि प्रसन्नता ही सफलता का मुख्य कारण हैं.

अनमोल वचन 10 (Anmol Vachan 10)

हार-जीत सिर्फ मनुष्य के मस्तिष्क में हैं क्योकि हार हो या जीत दोनों में कुछ-ना-कुछ हम पाते हैं.

अनमोल वचन 11 (Anmol Vachan 11)

थकान कभी भी, काम के कारण नही लगती हैं बल्कि चिंता, निराशा, भय और असंतोष के कारण होती हैं.

अनमोल वचन 12 (Anmol Vachan 12)

जो पत्थर छैनी और हथौड़ी की मार से टूट जाती हैं वह पत्थर सीढियों में लगा दी जाती हैं और जो मार सह लेती हैं वह मूरत बन जाती हैं और मंदिर में उसकी पूजा की जाती हैं.

अनमोल वचन 13 (Anmol Vachan 13)

बचपन में भी ग़जब का विश्वास था, हजारो बार गिरे पर खड़े होने से नही डरे.

अनमोल वचन 14 (Anmol Vachan 14)

रास्ते में कंकड़ हो तो आसनी से चला जा सकता हैं यदि जूते में कंकड़ हो तो एक क़दम भी चलना मुश्किल होता हैं.

अनमोल वचन 15 (Anmol Vachan 15)

दूध में मिला जल भी दूध बन जाता हैं. ठीक उसी तरह गुणवान व्यक्ति के साथ रहने से गुणहीन व्यक्ति भी गुणी बन जाता हैं.

अनमोल वचन 16 (Anmol Vachan 16)

हुनर सबमे होता हैं फर्क इतना हैं किसी का छिप जाता हैं और किसी का छाप जाता हैं.

अनमोल वचन 17 (Anmol Vachan 17)

ज्ञान से बड़ा कोई मित्र नही हैं और अज्ञानता से बड़ा कोई शत्रु नही.

अनमोल वचन 18 (Anmol Vachan 18)

यदि कोई मनुष्य समस्या का हल नही निकाल सकता हैं तो वह ख़ुद एक समस्या हैं.

अनमोल वचन 19 (Anmol Vachan 19)

जीवन के दुःख में ही सुख हैं और सुख में ही दुःख हैं.

अनमोल वचन 20 (Anmol Vachan 20)

कायर व्यक्ति अपने मृत्यु से पहले कई बार मरता हैं जबकि बहादुर व्यक्ति अपने जीवन में एक ही बार मृत्यु को प्राप्त होता हैं .

Anmol Bachan

अनमोल वचन 21 (Anmol Vachan 21)

मनुष्य को अपने भीतर से अहंकार को निकाल कर स्वयं को हल्का रखना चाहिए, क्योकि ऊँचा वही उठता हैं जो हल्का होता हैं. अहंकार मनुष्य को आगे नही बढ़ने देता हैं

अनमोल वचन 22 (Anmol Vachan 22)

ज्ञान, ध्यान, धैर्य और कर्म सब गुरू की ही देन होती हैं इसलिए जीवन में एक सच्चा गुरू जरूर बनाये जो आपका मार्गदर्शन कर सके.

अनमोल वचन 23 (Anmol Vachan 23)

बुरे कर्मो का त्याग करना, अच्छे कर्म करने से भी अधिक महत्वपूर्ण हैं.

अनमोल वचन 24 (Anmol Vachan 24)

मनुष्य जितनी शीघ्रता से दूसरो में दोष देखता हैं यदि खुद में देखे तो वह एक महान व्यक्ति बन सकता हैं और किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकता हैं.

अनमोल वचन 25 (Anmol Vachan 25)

जीवन में वह व्यक्ति सबसे ज्यादा ख़ुश होता हैं जो रह दिन कुछ-ना-कुछ सीखता हैं.

अनमोल वचन 26 (Anmol Vachan 26)

यदि कोई आपकी कमियाँ बता रहा हैं तो उसे ध्यानपूर्वक सुने. सही बोल रहा है तो सुधार करे. यही आपको अंदर से मजबूत करेगा और लक्ष्य को प्राप्त करने में मदत करेगा.

अनमोल वचन 27 (Anmol Vachan 27)

शक्ति और विकास निरंतर प्रयास और संघर्ष के माध्यम से ही आते हैं.

अनमोल वचन 28 (Anmol Vachan 28)

आप अपनी ताकत का अनुभव तब तक नही कर पाते जब तक आप और आपकी सबसे बड़ी कमज़ोरी आमने-सामने नही होते हैं.

अनमोल वचन 29 (Anmol Vachan 29)

यदि आपका लक्ष्य चुनौती पूर्ण नही है तो यह आपको और आपके जीवन को नही बदल सकता.

अनमोल वचन 30 (Anmol Vachan 30)

भय केवल मनुष्य के मस्तिष्क में होता हैं हकीकत में इसका कोई अस्तित्व ही नही हैं.

अनमोल वचन 31 (Anmol Vachan 31)

सफलता अनुभव से आती हैं और अनुभव, जीवन के उतार-चढ़ाव से आता हैं.

अनमोल वचन 32 (Anmol Vachan 32)

जो कर्म आपको अंदर से मजबूत बनाए वही अच्छा कर्म हैं. बुरा कर्म इंसान को अंदर से कमजोर बनाता हैं. अच्छा कर्म मन और हृदय को सुख, शांति और समृद्धि से भर देता हैं.

अनमोल वचन 33 (Anmol Vachan 33)

मनुष्य अपनी गलतियों से सबसे ज्यादा सीखता हैं परन्तु “गलती न हो जाए” इसलिए बहुत सारे कार्य को करता ही नही हैं.

अनमोल वचन 34 (Anmol Vachan 34)

धन होने से आप केवल धनवान हो सकते हैं परन्तु महान नही हो सकते हैं. महानता, केवल महान विचारो से ही आती हैं और यही विचार उच्च कार्य करने की प्रेरणा देते हैं.

अनमोल वचन 35 (Anmol Vachan 35)

मनुष्य को धैर्यवान होना चाहिए जिस प्रकार वृक्ष समय आने पर ही फल देते हैं उसी तरह मनुष्य का कर्म भी उचित समय आने पर फल देगा.

अनमोल वचन 36 (Anmol Vachan 36)

श्रेष्ठता ऊँचे कुल में जन्म लेने से नही आती, गुणों से इसका निर्माण होता हैं, दूध-दही-छाछ-घी, सब एक ही कुल के होते हुए भी, सबके मूल्य अलग-अलग होते हैं.

अनमोल वचन 37 (Anmol Vachan 37)

जब मार्ग की कठिनाइयाँ आपके आत्मबल को तोड़ने का प्रयास करती हैं तो सकारात्मक विचार ही आपको बल देती हैं.

अनमोल वचन 38 (Anmol Vachan 38)

जो व्यक्ति हर पल दुःख का रोना रोता हैं, उसके द्वार पर खड़ा सुख बाहर से ही लौट जाता हैं.

अनमोल वचन 39 (Anmol Vachan 39)

प्रशंसक (चाटुकार)आपको पहचान लेंगे परन्तु शुभचिंतको (कड़वा सच बोलने वाले) को आपको पहचानना पड़ेगा.

अनमोल वचन 40 (Anmol Vachan 40)

आप आने वाला कल नही बदल सकते हैं परन्तु अपने आदत जरूर बदल सकते हैं और आपकी आदतें निश्चित रूप से आने वाला कल बदल सकती हैं.

Anmol Vachan for Life and Success in Hindi

अनमोल वचन 41 (Anmol Vachan 41)

कुएँ में उतरने वाली बाल्टी यदि झुकती है तो पानी भर कर बाहर आती हैं. जीवन का भी यही नियम हैं जो झुकता हैं वही प्राप्त करता हैं.

अनमोल वचन 42 (Anmol Vachan 42)

जिसने “निश्चय” कर लिया उसके लिए केवल “करना” शेष रह जाता हैं. कुछ नया करने के लिए “दृढ़ निश्चय” का होना आवश्यक हैं.

अनमोल वचन 43 (Anmol Vachan 43)

यदि जीवन में कोई बड़ा लक्ष्य प्राप्त कर लो तो अपनी विनम्रता कभी खोने मत देना क्योकि फलदार वृक्ष की साखा झुक जाती हैं और जो नही झुकती हैं वह टूट जाती हैं.

अनमोल वचन 44 (Anmol Vachan 44)

हमारी स्थिति नही बल्कि, किसी स्थिति में हम अपने आपको कैसे सँभालते और ढलते हैं, उसी से हमारी सफ़लता तय होती हैं.

अनमोल वचन 45 (Anmol Vachan 45)

समझ में न आने पर जो छात्र प्रश्न पूछ लेता हैं, वह केवल दो मिनट के लिए मूर्ख होता हैं लेकिन जो नही पूछता हैं वह ज़िन्दगी भर मूर्ख रहता हैं.

अनमोल वचन 46 (Anmol Vachan 46)

यदि आप हकीकत में बहुत बारीकी से देखोगे तो आप को पता चलेगा कि रातों-रात मिलने वाली अधिकत्तर सफलताओं में बहुत लम्बा वक्त लगा हैं.

अनमोल वचन 47 (Anmol Vachan 47)

अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में इतना समय लगा दो कि तुम्हे किस दुसरे की बुराई करने का भी वक्त न मिले.

अनमोल वचन 48 (Anmol Vachan 48)

समय, सत्ता, सम्पत्ति और शरीर चाहे साथ दे या न दे लेकिन स्वभाव, समझदारी, सत्संग और सच्चे सम्बन्ध हमेशा साथ देते हैं इसलिए अच्छा बनिए और सच्चा बनिए.

अनमोल वचन 49 (Anmol Vachan 49)

अपने अंदर से क्रोध, अहंकार, लालच, भय और चिंता को निकाल कर स्वयं को हल्का करें क्योकि ऊँचा वही उठता हैं जो हल्का होता हैं.

अनमोल वचन 50 (Anmol Vachan 50)

अगर आप उस महान इंसान की तलाश कर रहे हैं जो आपकी ज़िन्दगी बदलेगा तो आईने में ख़ुद को देख ले.