अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra)

Amarnath Yatra

Amarnath Yatra (अमरनाथ यात्रा) – अमरनाथ हिन्दू धर्म का एक प्रमुख तीर्थस्थल हैं, यह कश्मीर राज्य में हैं. यह समुन्द्रताल से 13,600 फुट की ऊचाई पर स्थित हैं. अमरनाथ गुफा  शिव के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक हैं.

10 रोचक जानकारियाँ अमरनाथ यात्रा और शिवलिंग के बारे में (10 Interesting Points about Amarnath Yatra and Shivling)

  1. अमरनाथ को तीर्थो का तीर्थ कहा जाता हैं क्योकि इसी जगह पर भगवान् शिव ने माँ पार्वती को अमरत्व का रहस्य बताया था.
  2. अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) की सबसे बड़ी विशेषता यह हैं कि पवित्र गुफ़ा में बर्फ की प्राकृतिक शिवलिंग का निर्माण होता हैं, इसे हिमानी शिवलिंग भी कहते हैं.
  3. लाखो भक्त (आषाढ पूर्णिमा से रक्षाबंधन तक) सावन के महीने में प्रकृति निर्मित शिवलिंग के दर्शन करने आते हैं.
  4. गुफ़ा की परिधि लगभग 150 फुट हैं और इसमें ऊपर से बर्फ के पानी की बूँदे टपकती हैं और ऐसा एक जगह है जहाँ पर बर्फ़ पानी टपकने से लगभग 10 फुट लम्बा शिवलिंग बनता हैं.
  5. सबसे ज्यादा आश्यर्चजनक यह बात हैं कि शिवलिंग ठोस बर्फ़ का बनता हैं जबकि गुफ़ा में कच्ची बर्फ़ ही होती हैं जोकि हाथ में लेते ही भुरभुरा हो जाता हैं.
  6. शिवलिंग का आकर चंद्रमा के आकार के साथ घटता-बढ़ता रहता हैं. श्रावण पूर्णिमा को शिवलिंग अपने पूरे आकार में आ जाता हैं और अमावस्या तक धीरे-धीरे छोटा हो जाता हैं.
  7. ऐसा माना जाता हैं कि अमरनाथ की खोज सबसे पहले “भृगु मुनि” ने की थी. माना जाता हैं कि कश्मीर की घाटी पानी के नीचे डूबा हुआ था तब “कश्यप मुनि” ने कई नदियों और नालो के माध्यम से इसे सूखा दिया और जब पानी निकल गया तब “भृगु मुनि” सबसे पहले भगवान अमरनाथ के दर्शन किये थे.
  8. शिव लिंग दर्शन को आये, श्रद्धालुओ को कबूतरों का जोड़ा दिखाई देता हैं जिस भक्त “अमर पंक्षी” बताते हैं. ऐसा माना जाता हैं कि वे भी अमरकथा सुनकर अमर हुए थे. जिस शिव भक्त को यह जोड़ा दिखाई देता हैं, वह खुद को बड़ा ही सौभाग्यशाली मानता हैं.
  9. अमरनाथ मंदिर बोर्ड” अमरनाथ यात्रा की सारी ज़िम्मेदारी लेता हैं और यात्रियों की सारी सुख- सुविधा का ध्यान रखता हैं.
  10. ऐसा माना जाता हैं कि अमरनाथ गुफ़ा लगभग पाँच हज़ार साल पुराना हैं.