10 अनोखी बाते ताजमहल के बारे में

Tajmahal

ताजमहल आगरा (इंडिया) में स्थित है. ताजमहल का निर्माण मुग़ल शासक शाहजहा ने अपनी प्रिय पत्नी मुमताज महल की याद में करवाया था. इसे प्रेम का प्रतीक माना जाता है. ताजमहल मुग़ल वास्तुकला का सबसे अच्छा नमूना है. इसकी वास्तु शैली फ़ारसी, तुर्क, भारतीय और इस्लामी वास्तुकला का अनोखा सम्मिलन है.

ताज महल के बारे में रोचक जानकारियाँ

  1. ताजमहल को बनाने में लगभग 16 बर्ष लगे. इसका निर्माण 1932 से लेकर 1948 तक चला.
  2. ताजमहल का मूल्य लगभग 3 अरब 20 करोड़ रुपए, उस समयानुसार आंका गया था. वर्तमान समय में ताजमहल का मूल्य खरबों डॉलर से भी अधिक होगा. यदि हम वर्तमान मुद्रा में बदलते है.
  3. शाहजहा अपनी इच्छा पूरी नही कर सका. शाहजहा अपनी प्रिय रानी मुमताज महल के लिए अपने शोक को व्यक्त करने के लिए एक काला ताजमहल बनवाना चाहता था.
  4. मुमताज महल का नाम ”अर्जुमंद बानो बेगम” था मगर वो मुमताज महल के नाम से प्रसिद्ध हुई.
  5. ताजमहल का निर्माण मुमताज महल के मरने के बाद हुआ था.
  6. ताजमहल विश्व का पहला ऐसा ऐतिहासिक धरोहर है जिसे प्रतिदिन 12 हज़ार लोग देखने के लिए आते हैं.
  7. ताजमहल के चारों मीनार को बाहर की ओर झुकने का तात्पर्य मीनार के गिरने पर मुख्य इमारत को कोई छति ना पहुँचने से हैं.
  8. ताजमहल के मुख्य द्वार पर तालाब के बनाने का मुख्य उद्देश्य ताजमहल के प्रतिबिम्ब को तालाब में दर्शना है जो इसके खूबसूरती में चार चाँद लगा देता है ।
  9. ताजमहल के पूरा होने के तुरंत बाद ही, शाहजहाँ को अपने पुत्रऔरंगजेब के द्वारा अपदस्थ कर, आगरा के किले में नज़रबन्द कर दिया गया.
  10. ताजमहल और भी खूबसूरत और बहुमूल्य रत्नों से जडित था जिसे अग्रेजो के शासन काल में निकाल लिया गया.

ताजमहल के बारे में अन्य दंतकथाए

  1. ऐसा माना जाता है कि ताजमहल बनने के बाद शाहजहा ने कारीगरों के हाथ कटवा दिए थे ताकि वो दूसरा ताजमहल न बना सके.
  2. जहा पर मुमताज महल और शाहजहा का कब्र है वहा पर हर वक्त पानी गिरता है जिसे कोई नही समझ पाया कि यह पानी कहा से आता है.